विस में रामगढ़ विधायक ने उठाया समान कार्य के बदले समान वेतन देने की मांग 

रामगढ़ से वली उल्लाह की रिपोर्ट

रामगढ़। झारखंड विधानसभा के मानसून सत्र के अंतिम दिन रामगढ़ विधानसभा की लोकप्रिय विधायक ममता देवी ने शून्यकाल के माध्यम से प्रदेश के सभी प्रखण्ड एवं अंचल कार्यालयों में कार्यरत कंप्यूटर ऑपरेटरों का समान कार्य के लिए समान वेतन लागू करने तथा 8-10 वर्षों से कार्यरत कंप्यूटर ऑपरेटरों की सेवा नियमित करने अथवा नियुक्ति में इन्हें प्राथमिकता देने की मांग सदन में की।

झारखण्ड प्रदेश के सभी प्रखण्ड एवं अंचल कार्यालयों में कार्यरत कंप्यूटर ऑपरेटरों का समान कार्य के लिए समान वेतन निर्धारित नहीं है तथा 8-10 वर्षों से कार्यरत कंप्यूटर ऑपरेटरों के लिए कोई नियमवाली ना होने की वजह से ये अपने भविष्य के बारे में परेशान थे उनकी मांग को विधायक ने सदन में रखा।

विधायक ने अल्पसूचित प्रश्न के माध्यम से झारखंड के सभी मदरसों में सरकार द्वारा वित्तीय सहायता दी जाने की बात सदन से की ।क्योंकि अभी झारखंड में कुल 590 मदरसे संचालित हैं। जबकि केवल 185 मदरसों को ही सरकार द्वारा वित्तीय सहायता दी जाती है।

विधायक ने रामगढ़ जिलांतर्गत हथमारा पोचरा में प्रस्तावित पवार ग्रिड के अधूरे पड़े निर्माण कार्य के मामले को भी सदन में उठाया।
रामगढ़ में 2020 में ही एल & टी कंपनी को पावरग्रिड के निर्माण कार्य दिया गया है। परंतु अबतक पावर ग्रिड के निर्माण कार्य प्रारंभ नहीं हो पाया है जिससे ग्रामीणों ने भरी अक्रोश है।
विधायक ने आग्रह किया कि इसी वित्तीय वर्ष में उक्त पावर ग्रिड का निर्माण किया जाय।
सदन ने आश्वस्त कराया कि 8 माह के अंदर कार्य पूर्ण कर लिया जाएगा।