केंद्रीय विद्यालय चितरंजन में ‘अटल टिंकरिंग लैब’ का उद्घाटन

मिहिजाम से मिथिलेश निराला की रिपोर्ट

मिहिजाम : केंद्रीय विद्यालय चितरंजन में’अटल टिंकरिंग लैब’ का उद्घाटन विद्यालय प्रबंधन समिति के अध्यक्ष एस डी पाटीदार , सीपीओ चित्तरंजन ने फीता काटकर व दीप प्रज्वलित कर किया। इस अवसर पर श्री पाटीदार ने अपने संक्षिप्त संबोधन में इस प्रयोगशाला के बारे में उद्देश्य पूर्ण बातों को रेखांकित करते हुए विद्यालय में इस प्रकार के लैब के निर्माण से खुशी जाहिर की। उन्होंने कहा कि इससे बच्चों को आसानी से समझने और सीखने का अवसर मिलेगा तथा वे विज्ञान की आधुनिकतम चीजों की जानकारी हासिल करेंगे। मौके पर
प्राचार्य ने अटल टिंकरिंग लैब के बारे में विस्तार से बताया। कहा की अटल टिंकरिंग लैब भारत सरकार द्वारा देश की शिक्षा व्यवस्था में पैराडाइज्म शिफ्ट लाने के मकसद से लांच की गई थी। विद्यार्थियों के बीच इन्नोवेशन, क्रिएटिविटी और वैज्ञानिक पहलुओं को बढ़ावा देना इसका मुख्य उद्देश्य है। यह कार्यक्रम नीति आयोग के तहत भारत सरकार की एक मुहिम है। प्रयोगशाला का लक्ष्य बच्चों को भविष्य के लिए अभिनव कौशल प्रदान करना है। देशभर में माध्यमिक स्कूली बच्चों के बीच विज्ञान, प्रौद्योगिकी इंजीनियरिंग एवं गणित की शिक्षा को बढ़ावा देने के उद्देश्य इसमें शामिल हैं।
प्रयोगशाला के प्रत्येक रोबोटिक उपकरण की जानकारी भौतिक विज्ञान के स्नातकोत्तर शिक्षक गोलक बिहारी साहू तथा विज्ञान के शिक्षक संजय कुमार सिंह ने दी।
विद्यालय प्रबंधन समिति के नए सत्र की प्रथम बैठक में नामित अध्यक्ष तथा समिति के सदस्य गण सम्मिलित हुए। मौके पर प्राचार्य ने विद्यालय में होने वाली गतिविधियों एवं कार्यों का लेखा-जोखा प्रस्तुत किया,एवं पावर पॉइंट प्रेजेंटेशन के माध्यम से जानकारी देते हुए विद्यालय की आगामी योजनाओं की भी रूपरेखा प्रस्तुत की गई। ।मौके पर चिरेका के उप महाप्रबंधक आलोक कुमार, बाबूल दास (सीएसडब्ल्यू आई ,चिरेका) पीएस पाणिग्रही, प्राचार्य, इंग्लिश मीडियम, टी के मंडल, अचार्य डीबी (बालक), कमलजीत कौर प्राचार्य- बीआरएस ,अभिभावक प्रतिनिधि तथा विद्यालय की शिक्षिका एवं वीएमसी सदस्य वर्षा रानी खालको (प्राथमिक शिक्षिका) उपस्थित थी।
धन्यवाद ज्ञापन विद्यालय के प्रधानाध्यापक महेश प्रसाद साह ने किया। मौके पर शिक्षक एस दत्ता, अंशुमान के अलावे अन्य शिक्षकगण उपस्थित रहे। कार्यक्रम का संचालन श्रिया नंदी ने किया।