सही कहा गया है एक शिक्षक बच्चों को शिक्षित कर उनके जीवन संवारने का काम करते हैं: साहू

रांची: आज बाल विकास एवं मानसिक स्वास्थ्य संस्थान दीपशिखा के द्वारा शिक्षक दिवस के पूर्व संध्या पर शिक्षक दिवस का आयोजन स्वर्ण भूमि के सभागार में संपन्न हुआ। जिसकी अध्यक्षता कार्यकारी अध्यक्ष सुधा लिल्लहा के द्वारा किया गया। मुख्य अतिथि के रूप मैं कांता मोदी रोटरी क्लब प्रेसिडेंट एवं राजीव कुमार पूर्व अध्यक्ष रोटरी क्लब फाउंडर मेंबर दीपशिखा मीरा बुधिया विशेष रुप से आमंत्रित थी। कार्यक्रम का संचालन डिप्लोमा प्रथम वर्ष की छात्रा निशा कुमारी ने किया । सर्वप्रथम डॉ सर्वपल्ली राधाकृष्णन जी के तस्वीर में माल्यार्पण कर कार्यक्रम का शुभारंभ अतिथियों के द्वारा किया गया। इस कार्यक्रम को संबोधित करते हुए पूर्व शिक्षक राष्ट्रपति से सम्मानित आर पी साहू ने कहा कि आज का दिन सही मायने में बहुत ही खास है क्योंकि आज हम ऐसे शख्सियत को याद कर रहे हैं जिन्होंने देश की आने वाली पीढ़ी को शिक्षित करते हुए समाज के प्रत्येक व्यक्तियों के अधिकारों की रक्षा करने के लिए भारत के प्रथम नागरिक के रूप में देश का गौरव बढ़ाने वाले भारत पूर्व राष्ट्रपति डॉ सर्वपल्ली राधाकृष्णन जी की जन्मदिवस को शिक्षक दिवस के रूप में याद कर रहे हैं । सही कहा गया है एक शिक्षक बच्चों को शिक्षित कर उनके जीवन को सवारने सजाने एवं नई दिशा देने का काम करते हैं । साथ ही स्वयं के आचरण एवं व्यवहार से समाज में एक उदाहरण प्रस्तुत करते हैं जब बच्चे छोटे होते हैं तो शिक्षक के द्वारा उन्हें मार्गदर्शित करने में प्यार दुलार डांट फटकार इसीलिए करते हैं क्योंकि उनकी जीवन की दिशा एवं दशा बेहतरीन हो सके इस कार्यक्रम में मुख्य रूप से छात्र एवं शिक्षक उपस्थित हुए छात्रों ने शिक्षकों के सम्मान में गीत प्रस्तुत कर उनसे आशीष प्राप्त की आज के इस दौर में जहां कैरियर को प्रधान माना जाता है वही दीपशिखा जैसी संस्थान सेवा को प्रधान मानती है इसीलिए दीपशिखा सामान्य बच्चों के साथ साथ विशेष बच्चों के लिए शिक्षण प्रशिक्षण हेतु विशेष शिक्षक तैयार करती है जो समाज के विभिन्न तबको में जाकर दिव्यांग जनों के साथ साथ सामान्य बच्चों को भी टीचिंग लर्निंग मैटेरियल के माध्यम से बहुत ही आसानी से पाठ्यक्रम की जानकारी उपलब्ध कराते हैं जो एक अनोखी पद्धति है इस कार्यक्रम में मुख्य रूप से रमा मित्तल आशीष मोदी गोपी का आनंद प्रमोद कुमार मंजू साहू संजय टोपो डॉक्टर उमा सेनगुप्ता ऑक्यूपेशनल थैरेपिस्ट अशोक कुमार सिन्हा क्लिनिकल साइकोलॉजिस्ट अनुराधा व्हाट्स सुनील मिश्रा स्पीच थैरेपिस्ट साहित्य दर्जनों छात्र-छात्राएं शिक्षक शिक्षिकाएं उपस्थित थे