बीसीसीएल और सेना में बहाली के नाम पर ठगी करने वाले दंपती को जेल, लोगों को ऐसे देता था झांसा

हजारीबाग : बीएसएफ, सेना, बीसीसीएल सहित अन्य कई संस्थानों में नौकरी दिलाने के नाम पर ठगी करनेवाले गिरोह के दो सदस्यों को हजारीबाग की सदर थाना पुलिस ने गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। ठगों का तार हजारीबाग से लेकर बिहार के अलावा यूपी और दिल्ली से भी जुड़ा है। गिरफ्तारी की जानकारी मिलते ही ठगी का शिकार हुए करीब आधा दर्जन लोगों ने सदर सदर थाने में शिकायत दर्ज कराई। इनमें एक कोचिंग संचालक भी है, जिनसे 25 लाख रुपए की ठगी की गई। उसे सीसीएल में ऊंचे पोस्ट पर नौकरी दिलाने कीे एवज में ठगी की गई। आशंका जताई जा रही है कि इस गिरफ्तारी से एक बड़े अंतरराज्यीय गिरोह का खुलासा हो सकता है। दोनों आरोपियों को रामनगर स्थित सुशीला अपार्टमेंट से गिरफ्तार किया गया। पकड़ा गया ठग ऋषभ शर्मा पेलावल निवासी है। वह पेलावल में मो. जावेद और ठगी की दुनिया में ऋषभ शर्मा के नाम से जाना जाता है। बताया जा रहा है कि उसने नौकरी दिलाने के नाम पर अब तक करोड़ों रुपए की ठगी की है। वह अपनी पत्नी पूनम कुमारी के साथ रामनगर स्थित सुशीला अपार्टमेंट के फ्लैट नंबर 303 में रहता था। पुलिस ने कोचिंग संचालक के आवेदन पर प्राथमिकी दर्ज करने के बाद उसे गिरफ्तार किया। अन्य भुक्तभोगियों में पीयूष कुमार, रोहित कुमार, सुनील कुमार आदि ने बताया कि हजारीबाग के अलावा रांची में भी उसने लाखों की ठगी की है। भुक्तभोगी युवकों ने बताया कि गिरोह में आधा दर्जन लोग शामिल हैं। पेलावल के जावेद उर्फ ऋषभ शर्मा, उसकी पत्नी पूनम कुमारी शर्मा, लाखे निवासी ओम प्रकाश उर्फ गौतम सागर तथा मेरु निवासी निशांत कुमार भी गिरोह में शामिल है।