जंयती पर याद किये गये पूर्व राष्ट्रपति राजेन्द्र बाबू

पाकुड़ : देश के प्रथम राष्ट्रपति बाबू राजेन्द्र प्रसाद की जंयती को ले कर पाकड़ में उन्हे याद किया गया।गुरुवार, स्थानीय विद्यालय में स्वतंत्र भारत के पहले राष्ट्रपति देशरत्न राजेंद्र प्रसाद की जयंती बड़े उल्लास के साथ मनाई गई। इस उपलक्ष्य में विद्यालय प्रांगण में एक वैदिक हवन का कार्यक्रम किया गया। तत्पश्चात विद्यालय के बहुउद्देश्यीय भवन में विद्यालय प्राचार्य ने कुछ शिक्षकों की उपस्थिति में राजेन्द्र बाबू के तस्वीर पर पुष्प अर्पित किया एवं उनके कार्यों की सराहना की। एक संक्षिप्त संबोधन में उन्होंने बताया कि राजेन्द्र बाबू के जीवन से हमे ‘‘सिम्पल लिविंग एंड हाई थिंकिंग‘‘ की प्रेरणा मिलती है। बिहार के इस लाल की स्वतंत्रता संग्राम एवं संविधान निर्माण में अतुल्नीय भूमिका रही। सादा जीवन एवं उच्च विचार के सिद्धांत पर आधारित उनका जीवन देशवासियों को सदैव प्रेरित करता रहेगा।उन्होंने बताया कि विद्यालय में इस समय परीक्षा का समय चल रहा है। केंद्र सरकार के गाइडलाइन्स के अनुसार डी ए वी एग्जाम एट होम के तर्ज पर परीक्षा का संचालन कर रही है। उन्होंने सभी अभिभावकों से निवेदन किया है कि इस परीक्षा के सफल संचालन हेतु सहयोग अवश्य करें।वहीं पाकुड़ शहर के राजप्लस टू विद्यालय में भी पूर्व राष्ट्रपति की जंयती मनाया गया।मौके पर उपस्थित शिक्षकोकं ने उनक ेचित्र पर माल्यापर्ण किया।