झारखंड अभिभावक महासंघ के सदस्यों ने की डीएसई से मुलाकात

बोकारो से जय सिन्हा
बोकारो: आज झारखंड अभिभावक महासंघ के सदस्य व सैकड़ों की संख्या में विभिन्न निजी स्कूलो के खिलाफ अभिभावक जिला शिक्षा पदाधिकारी के कार्यालय पहुंचे। महासंघ के जिला संरक्षक राकेश मधु ने कहा आए दिन अभिभावक जिला के प्रशासनिक अधिकारियों के कार्यालय का चक्कर लगा रहे हैं लेकिन हम अभिभावकों का सुनने वाला कोई नहीं है। हमारी मांग है ऑनलाइन क्लास के फी को तय किया जाए।
झारखंड अभिभावक महासंघ के जिला अध्यक्ष नीरज पटेल ने कहा विगत 8 जनवरी को अनुमंडल पदाधिकारी के द्वारा अभिभावकों को आश्वासत किया गया था कि जिन अभिभावकों के बच्चों का नाम ऑनलाइन क्लास से हटाया गया है एवं जो अभिभावक फीस जमा कर पाने में असमर्थ है। वह जिला शिक्षा पदाधिकारी के यहां फिर से आवेदन दें। हम अभिभावक पिछले 8 महीने से आवेदन पर आवेदन दे रहे हैं लेकिन उस आवेदन की सुध लेने वाला कोई नही है। निजी विद्यालय जैसे डीएवी पब्लिक स्कूल और सन्त जेवियर्स बोकारो, सरकार के आदेश का धज्जियां उड़ा रही है रीएडमिशन चार्ज ,लैब चार्ज ,कंप्यूटर चार्ज, सोशल सर्विस चार्ज और भी पता नहीं किन किन नामों से अवैध रूप से अभिभावकों से रुपया ठगा जा रहा है। जिसका सबूत फीस रसीद लेकर डीडीसी बोकारो , अनुमंडल पदाधिकारी तथा जिला शिक्षा पदाधिकारी को दिखाने के बाद भी अभी तक उन निजी विद्यालयों पर कार्रवाई नहीं हुई है हमारी मांग है कि ऐसे निजी विद्यालय का एनओसी या मान्यता रद्द की जाय। सरकार का आदेश था ट्यूशन फी के अलावे किसी भी प्रकार का एक्स्ट्रा चार्ज नहीं लेना है। जिला में यह कहावत बिल्कुल सटीक बैठता है अंधेर नगरी चौपट राजा ।
वहीं मौजूद महासंघ के उपाध्यक्ष अमित कुमार ने कहा जिला प्रशासन टालमटोल नीति को छोड़ ऑनलाइन क्लास का फी तय करे।