झारखंड प्रदेश वैश्य मोर्चा की बैठक संपन्न, नये जिला अध्यक्ष का हुआ स्वागत

ओबीसी को 27% आरक्षण देने की मांग

रामगढ़। साहु धर्मशाला में रविवार को झारखंड प्रदेश वैश्य मोर्चा की बैठक आयोजित की गई। बैठक की अध्यक्षता जिला अध्यक्ष नंदकिशोर प्रसाद ने किया, जबकि संचालन जिला प्रभारी बिरेन्द्र कुमार ने किया। इस बैठक में मुख्य अतिथि के रूप में केंद्रीय अध्यक्ष महेश्वर साहु उपस्थित थे। यह बैठक केंद्रीय कार्यक्रमों को लागू करने, जिला कमिटि का विस्तार एवं नंदकिशोर प्रसाद के साथ हुये घोखाघड़ी मुद्दे को लेकर रखी गई थी। सर्वप्रथम मुख्य अतिथि महेश्वर साहु ने दीप प्रज्वलित कर बैठक का उद्घाटन किया। तत्पश्चात उपरोक्त्त मुद्दों पर चर्चा करते हुए केंद्रीय अध्यक्ष महेश्वर साहु ने कहा कि राज्य स्थापना दिवस पर राज्य सरकार ओबीसी को 27% आरक्षण देने की घोषणा नहीं करती है तो 20 नवंबर से पुन: आन्दोलन प्रारंभ कर दिया जाएगा। श्री साहु ने कहा कि वैश्य मोर्चा एक सामाजिक संगठन है, लेकिन वैश्य समाज के लोगों को कोई भी प्रताड़ित करेगा, निशाना बनाने का प्रयास करेगा तो हम चुप नहीं बैठेगें। नवनियुक्त जिला अध्यक्ष नंद किशोर प्रसाद ने अपने अध्यक्षीय भाषण में कहा कि सामाजिक स्तर पर काम को आगे बढ़ाया जायेगा और हर जरुरत मन्द लोगों को मदद किया जाएगा।
बैठक में तीन प्रस्ताव भी पारित किये गये, जिसमें कहा गया कि एक माह के भीतर जिला कमिटि का विस्तार कर लिया जायेगा। दूसरे प्रस्ताव में कहा गया कि केंद्रीय कार्यक्रमों को रामगढ़ जिला में मजबूती से लागू किया जाएगा। और तीसरे प्रस्ताव में कहा गया कि नंदकिशोर प्रसाद के साथ धोखाघड़ी करने वाले तथा उसका सहयोग करने वालों को पुलिस एक सप्ताह के भीतर नहीं पकड़ती है तो सड़क पर उतर आन्दोलन किया जाएगा।
इस बैठक में मुख्य रूप से केन्द्रीय सचिव लखन अग्रवाल (गोला), केंद्रीय सदस्य विजय जायसवाल (रामगढ़), भुनेश्वर साव (भुरकुंडा), नंदकिशोर भगत (दुलमी), प्रखंड अध्यक्ष जितेन्द्र साहु (गोला), मुकेशलाल सिन्दूरिया (पतरातू), पंकज बर्नवाल, दिलीप भगत, सूरज वर्मा, तुलसी साव, दिलीप भगत, रामावतार साव, चन्द्रेश्वर प्रसाद, विनोद कुमार गुप्ता, संजीत साहु, रवि अग्रवाल, अनिल कुमार गुप्ता, देवेन्द्र प्रसाद गुप्ता, मोहन साव उपस्थित थे।