झारखंड राज्य अराजपत्रित कर्मचारी संघ की बैठक संपन्न

गुमला : झारखंड राज्य अराजपत्रित कर्मचारी महासंघ जिला शाखा गुमला की आवश्यक बैठक महासंघ कार्यालय में साथी पुरुषोत्तम साहू के अध्यक्षता में सम्पन्न हुई ,बैठक में उपस्थित नेताओं ने कहा कि उपायुक्त गुमला की कर्मचारियों के प्रति नकारात्मक सोंच, एवं रवैये के कारण ही MACP का लाभ समय पर नहीं मिल रहा है, अनुकंपा की नियुक्ति नहीं होने एवं जान बूझकर आपत्ति लगाने, समाहरणालय के सहायकों को कालावधि वेतन का लाभ नहीं देने, अभ्यावेदन के आधार पर स्थानांतरण नहीं करने, कई विभागों में कर्मचारियों की कमी को नहीं भरने, कई प्रखंड विकास पदाधिकारियों द्वारा कर्मचारियों को मानसिक रूप से प्रताड़ित करने, दुर्गा-पूजा जैसे महत्वपूर्ण त्योहार में भी डुमरी, भरनों सहित कई प्रखंडों के कर्मचारियों को वेतन आज तक नहीं मिला है, इसी प्रकार स्वास्थ्य विभाग के अनुबंध कर्मियों को भी तीन महीनों से मानदेय का भुगतान नहीं किया जा रहा है एवम दैनिक मजदूरी पर कार्य कर रहे चालक, कम्प्यूटर ऑपरेटर के मानदेय नहीं बढ़ाया जा रहा है, महासंघ के जिला सचिव- श्री भूषण कुमार ने कहा कि उपायुक्त से शिष्ट मंडल वार्ता में बनी सहमति के बावजूद आजतक उपायुक्त द्वारा कर्मचारियों की मांगों पर विचार नहीं किया गया जबकि प्रतिदिन जिला स्तर पर बैठकें आयोजित होती है लेकिन जिला स्थापना समिति की बैठक को तिथि निर्धारित कर बार-बार टाल दिया जा रहा है, इससे उपायुक्त गुमला की कर्मचारी विरोधी छवि मजबूत हो रही है, इसीलिये मजबूर होकर इसके विरोध में कर्मचारी हित में मांगों को हासिल करने के लिए दिनांक- 1/11/2021 को एक दिवसीय धरना प्रदर्शन व घेराव कर मांगपत्र दिया जायेगा, मो० जाकिर (उपाध्यक्ष) ने कहा कि सभी समस्यायों से सम्बंधित मांग पत्र उपायुक्त को दिया गया है, जितवाहन उरांव (संयुक्त सचिव) ने कहा कि कोरोना काल मे रात-दिन काम करने के बावजूद स्वास्थ्य विभाग के अनुबंध कर्मियों को वेतन नहीं मिलने से कर्मचारियों में काफी आक्रोश है, राम नरेश सिंह(कोषाध्यक्ष) ने कहा कि कोरोना के नाम पर कर्मचारियों का भयादोहन हो रहा है, सीताराम मुंडा, नीरज सिन्हा, रामकेश्वर राम, सुनील कुमार आदि ने कहा कि कर्मचारी हित मे एक नवंबर 2021 को आयोजित आंदोलन को सफल बनाया जायेगा। अंत में धन्यवाद ज्ञापन के पश्चात बैठक की कार्यवाही समाप्त की गई ।