जिले के सभी प्रज्ञा केंद्र संचालकों के साथ सीएससी स्टेट टीम के द्वारा एकदिवसीय कार्यशाला आयोजित

पाकुड़ : जिला मुख्यालय के सूचना भवन सभागार में सीएससी स्टेट टीम के द्वारा एक दिवसीय कार्यशाला का आयोजन किया गया। कार्यशाला में मुख्य रूप से जिला कृषि पदाधिकारी मुनेन्द्र दास मौजूद थे।उक्त कार्यशाला में विभिन्न आईटी सर्विसेज के बारे में जानकारी दी गई। कार्यशाला में विभिन्न बिंदुओं की जानकारी दी गई।जिला कृषि पदाधिकारी श्रभ् दास ने उपस्थित संचालकों से कहा कि कृषि ऋण माफी योजनास सरकार की महत्वकाक्षी योजना है और इसका लाभ्ज्ञ किसान उठा सके इसका हमलोगों को प्रयास करना है।मौके पर मौजूद सीएससी स्टेट टीम के हेड शम्भु कुमार ने जिले में स्थित सभी प्रज्ञा केंद्रों संचालकों को संबोधित करते हुए कहा कि जिले के सभी 128 पंचायतों में आईटी सर्विस एवं उन सभी तक सरकारी योजनाओ को पहुंचाने की जिम्मेवारी हमारी हैं। इसका उद्देश्य अंतिम व्यक्ति तक सरकारी योजनाओ की जानकारी पहुंचाना एवं उन्हें योजना से लाभान्वित करना है। सीएससी के माध्यम से ग्रामीण क्षेत्र के लोगों को सरकार की जनकल्याणकारी योजनाओं के बारे में विस्तृत जानकारी देना तथा आमजनों के कई प्रकार के समस्या का निराकरण करना है। टीम ने कहा कि जिले में स्थित सभी प्रज्ञा केंद्रों के माध्यम से लगान रसीद, राशन कार्ड, डीजीपे, पीएमजी दिशा, पेंशन, जाति, आय, निवास, तथा झारखंड कृषि ऋण माफी योजना के तहत योग्य ऋण धारकों को ऋण उपलब्ध कराना एवं अन्य महत्वपूर्ण सरकारी योजनाओं का कार्यान्वयन किया जा रहा है। इसके अतिरिक्त उन्होंने बताया कि भविष्य में यूपीआई/बैंकिंग/इंश्योरेंस आदि सर्विसेज की भी जिम्मेवारी सीएससी पर ही आने वाली है। ग्राम पंचायत स्तर तक बैंकिंग सर्विसेज पहुंचाना सीएससी की जिम्मेवारी है। साथ ही टेली मेडिसिन एवं अन्य आईटी इंटरेक्शन भी सीएससी के माध्यम से ही किया जाएगा। टीम ने सभी संबंधित प्रज्ञा केंद्र संचालकों को निदेश देते हुए कहा कि वर्कशॉप एवं सेमिनार के माध्यम से प्रत्येक ग्राम पंचायत तक सीएससी सर्विसेज के बारे में विस्तृत जानकारी पहुचाये ताकि ग्रामीण इसकी जानकारी प्राप्त कर उक्त योजना से लाभान्वित हो सके। उक्त आयोजित कार्यशाला में स्टेट हेड शम्भु कुमार, सीएससी मैनेजर निखिल नागवंशी सहित सभी प्रज्ञा केंद्र संचालक व अन्य संबंधित कर्मीगण उपस्थित थे।