झामुमो ने हर्षोउल्लास के साथ मनाया विश्व आदिवासी दिवस

पथरगामा: आज केंद्रीय समिति के निर्देश एवं कोरोना संक्रमण नियम का पालन करते हुए झारखंड मुक्ति मोर्चा गोड्डा के द्वारा विश्व आदिवासी दिवस पथरगामा प्रखंड के सिद्धू कानू हरखा मैदान बारा बांध गांधीग्राम में पूर्ण हर्षोल्लास के साथ मनाया गयाl सर्वप्रथम जिला सचिव बासुदेव सोरेन की अगुवाई में ढोल नगाड़े के साथ गांधीग्राम में अवस्थित सिद्धू कानू प्रतिमा का माला पहनाकर पारंपरिक विधान के तहत पूजा अर्चना किया गयाl मेला मैदान में जिला प्रशासन के निर्देश का पालन करते हुए 100 की संख्या से कम आबादी का सभा संचालन किया गयाl मुख्य वक्ता के रूप में उपस्थित पूर्व जिला अध्यक्ष शाह केंद्रीय समिति सदस्य राजेश मंडल ने संबोधित करते हुए कहा- की आज का दिन आदिवासी समाज के लिए बहुत ही बड़ा दिन है। आप आदिवासी भाई सर्वप्रथम इस धरती के पुत्र हैं। आप ही के कारण संपूर्ण विश्व का जल, जंगल, जमीन का रक्षा होता आया है। आप ही के मौलिक अधिकार के लिए, आप आदिवासी भाइयों के विकास के लिए, आपकी सांस्कृतिक धरोहर की रक्षा के लिए ,पूरे विश्व में आज 9 अगस्त को विश्व आदिवासी दिवस मनाया जाता है। सर्वप्रथम इसकी शुरुआत संयुक्त राष्ट्र संघ के द्वारा 1977 के दशक में अमेरिका में आदिवासी दिवस मनाने का प्रथा रहा। लेकिन 1977 के समय में इसका नाम कोलंबस दिवस के रूप में मनाया जाता था !जिसका पूरा विरोध करते हुए आदिवासी भाइयों ने विश्व आदिवासी दिवस का नाम दिया l वर्ष उन्नीस सौ 95 से लगातार 9 अगस्त को आदिवासी दिवस मनाया जा रहा है! आज जिला झामुमो के बैनर तले विश्व आदिवासी दिवस पर ,आपको इतना ही कहना चाहूंगा सभी आदिवासी भाई बहन अपने बच्चों को अपने मौलिक अधिकार को लेकर, शिक्षा के तरफ मुख्य ध्यान देंl बच्चे जब शिक्षित होंगे तो हमारा विकास अपने आप होगा! समारोह को मुख्य रूप से बासुदेव सोरेन, शिव शंकर मंडल , राजू हसदा प्रखंड सचिव पथरगामा ,रामचंद्र मरांडी पूर्व प्रखंड अध्यक्ष ,महेश मंडल पूर्व प्रखंड अध्यक्ष, जफर अंसारी ने संबोधित किया साथी उपस्थित आदिवासी महिलाओं के द्वारा गीत का भी आयोजन किया गया l मंच पर मुख्य रूप से दरोगा मुर्मू ,अभी मुर्मू ,हनी marandi,बजल मरांडी,स्टीफन मरांडी विमल मरांडी, मक्कू सोरेन, देवी मरांडी, महामई मुर्मू, मिस्त्री मरांडी,सूरज मोहन मरांडी,आदि उपस्थित थे। सभा का संचालन जिला सचिव बासुदेव सोरेन ने कियाl