झामुमो ने भाजपा का पुतला किया दहन

गढ़वा से नित्यानंद दूबे की रिपोर्ट
गढ़वा: मुख्यमन्त्री के काफिला पर किए गए हमले के विरोध में झारखंड मुक्ति मोर्चा जिला कमिटी द्वारा बुधवार की शाम स्थानीय रंका मोड पर भाजपा का पुतला दहन किया गया। झामुमो नेताओ ने कहा कि भाजपा सत्ता खोने के गम को पचा नहीं पा रही हैं और मुख्यमंत्री की बढ़ती लोकप्रियता से क्षुब्ध होकर उनके काफिले पर हमला किया जो पूरी तरह से अलोकतांत्रिक हैं।
झामुमो जिलाध्यक्ष तनवीर आलम खान ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी के नेता और कार्यकर्ता सत्ता हथियाने के लिए बाहुबल एवं दंगा तक का प्रयोग करते हैं जिसे पूरे देश की जनता अब समझने लगी है। झारखंड को बनाने के लिए जिन्होंने लड़ाई लड़ी है वह पुनः झारखंडियत के लिए तीर-कमान उठा सकते हैं और गुंडई करने वालों को सबक सिखाने में सक्षम है। संवैधानिक पद पर बैठे हुए किसी राज्य के मुख्यमंत्री पर हमला करना विकृत मानसिकता का परिचायक है। झारखंड मुक्ति मोर्चा इस घटना की कड़े शब्दों में निंदा करती है तथा ऐसे असामाजिक तत्व को चेतावनी भरे लहजे में कहना चाहती है कि अगर ऐसी घटना की पुनरावृति की गई तो हम चुप नहीं बैठेंगे। उन्होने राज्य के डीजीपी से असामाजिक तत्वों को चिन्हित कर कड़ी कार्रवाई करने की मांग की है। मौके पर जिला सचिव मनोज ठाकुर, जिला प्रवक्ता धीरज दुबे, महिला मोर्चा अध्यक्ष अंजली गुप्ता, अल्पसंख्यक मोर्चा अध्यक्ष आलमगीर आलम, युवा मोर्चा अध्यक्ष नितेश सिंह, केंद्रीय समिति सदस्य सूर्यदेव मेहता, निर्मल पासवान, परेश तिवारी, धीरेंद्र चैबे, विधायक प्रतिनिधि असर्फि राम, कंचन साह, दसरथ जैसवाल, राजेश बैठा, अजय ठाकुर, अमित सिंह, आलम आरा, चंदा देवी, अराधना सिंह आदि उपस्थित थे।