बंद पड़े दुगदा वाशरी प्लांट को चालू कराने को लेकर झामुमो उतरी आंदोलन पर

बोकारो से जय सिन्हा
बोकारो/ चंद्रपुरा : राज्य सरकार को कोयले की रॉयल्टी भुगतान को लेकर पिछले एक माह से अधिक समय से बंद बीसीसीएल के दुगदा कोल्वक़्शरी प्लांट  को चालू करने के लिये ट्रेड यूनियन जनता मजदूर संघ ने आंदोलन का निर्णय ले लिया है । यूनियन जनता मजदूर संघ ने अपने  आंदोलन के रूप रेखा के तहत मंगलवार को दगदा कोलवाशरी प्लांट के मुख्य गेट के समक्ष गेट मीटिंग आयोजित की ।

गेट मीटिंग के दौरान यूनियन के सचिव गुलाब चन्द्र चौहान , विधान चन्द्र सिंह सहित प्रतिनिधि मण्डल ने दुगदा  वाशरी प्रबन्धन को 10 सूत्री मांग पत्र सौप । सौपे गए मांग पत्र में दुगदा कॉल वाशरी प्लांट को अविलंब चालू करने , कोविड – 19 से मौत हुई दुगदा वाशरी की महिला कर्मचारी आशा देवी के आश्रित को 15 लाख रुपये भुगतान एवं आश्रित पुत्र को नियोजन देने ,दुगदा कॉलोनी की  सड़क  मरमती में  हुई अनियमिता सहित कर्मचारियों से सम्बंधित मांगे शामिल है ।
आयोजित गेट मीटिंग में यूनियन के सचिव गुलाब चन्द्र चौहान एवं विधान सिंह ने कहा कि  एक सोची समझी रणनीति के तहत  दुगदा कोलवाशरी प्लांट बन्द पड़ा है ।   कोयले की रॉयल्टी राज्य सरकार को महीनों से भुगतान नहीं होना इसके पीछे मंशा साफ  झलकता है । अधिकारियों की लापरवाही है । उन्होंने आरोप लगाया कि दुगदा वाशरी प्लांट को हमेशा की लिए बंद करने की साजिश  है । इस बाबत जनता मजदूर संघ ने दुगदा स्थित अपने यूनियन कार्यालय में एकआवश्यक बैठक बुलाई  । बैठक में एक महीने से अधिक समय से बन्द वाशरी प्लांट के मुद्दे पर जेएमएस (बच्चा  गुट ) यूनियन को छोड़ कर दर्जनों वाशरी कर्मचारी जनता मजदूर संघ यूनियन में शामिल हो गए । इधर यूनियन  सचिव गुलाब चौहान ने बताया कि मांग पत्र पर प्रबन्धन कोई ठोस निर्णय नहीं लेगी तो यूनियन अपना  आंदोलन और तेज  करेगी