पत्रकार बिपिन बिहारी पर जानलेवा हमला, गंभीर रूप से घायल, रेफर

बरही (हजारीबाग): पत्रकार विपिन बिहारी पांडे के साथ सोमवार को बरही अनुमंडलीय अस्पताल के समीप दो युवकों द्वारा मारपीट करने का मामला प्रकाश में आया है। जिसमें वे गंभीर रूप से घायल हो गए, जिसका प्राथमिक उपचार बरही अनुमंडलीय अस्पताल में करने के बाद बेहतर इलाज के लिए सदर अस्पताल रेफर किया गया। घटना की सूचना मिलने पर मौके पर पहुंची पुलिस ने दोनों युवकों को पकड़कर बरही थाना लाया। इस बाबत बिपिन बिहारी पांडे के भाई चौपारण थाना अंतर्गत सेलहारा पंचायत के रमजीता गांव निवासी देवदत्त कुमार पांडे ने बरही थाना में आवेदन दिया। आवेदन देते हुए उन्होंने बताया कि सोमवार करीब 2 बजे मेरे भाई विपिन बिहारी पांडे इलाज कराने के लिए बरही अनुमंडलीय अस्पताल के गेट के पास जैसे ही पहुंचा की घात लगाकर पहले से बैठे गिरिडीह जिला के सरिया थाना के परसिया पंचायत के बगड़ो गांव निवासी अजय पांडे व जितेंद्र पांडे दोनों के पिता भुनेश्वर पांडे वह उनके अन्य 5 से 7 व्यक्ति जिनका नाम में नहीं जानता पर देखने से पहचान लूंगा। एकाएक मजमा बनाकर एकमत होकर वे लोग अपने मोटरसाइकिल के डिक्की से लोहे का चेन व रड निकालकर जान मारने की नीयत से मेरे भाई विपिन बिहारी पांडे को मोटरसाइकिल से उतारकर अस्पताल गेट के सामने पटक दिया। वहीं घसीटते हुए बरही अनुमंडल अस्पताल के चारदीवारी के अंदर ले जाकर बुरी तरह से रड व लोहे के चैन से माथे पर वार किया पर किसी तरह से मेरे भाई ने अपने माथे को बचाया। लेकिन वार से गर्दन के नीचे का भाग बुरी तरह जख्मी हो गया। तब तक भीड़ में ही अजय पांडे ने जितेंद्र पांडे को कहा कि आज इसकी हत्या कर देनी है, इसके गले में गमछा से फांसी लगा दो और जितेंद्र पांडे ने गमछा से बिपिन बिहारी पांडे के गले में फांसी का फंदा बनाकर जान से मारने का प्रयास किया। जिससे मेरा भाई बेहोश हो गया। मेरा भाई का मरा हुआ समझकर अजय पांडे ने उसके पैकेट से रंगदारी से 2200 नगद निकाल लिया और जरूरी कागजात भी निकाल कर अपने अन्य साथी को दे दिया। इतना होने पर मेरे भी द्वारा रोने व हल्ला करने पर वहाँ भीड़ जमा हो गई और उपस्थित भीड़ ने बरही पुलिस को सूचना दिया और जितेंद्र पांडे और अजय पांडे को पुलिस के हवाले कर दिया। वहीं इनके अन्य साथी मौके पर से भागने में सफल रहे। इनके मोटरसाइकिल को भी ग्रामीणों ने थाना को सुपुर्द किया। इधर पुलिस मामले की छानबीन में जुट गई है। इधर घटना की सूचना मिलते ही पूर्व विधायक मनोज कुमार यादव, भाजपा जिला उपाध्यक्ष रमेश ठाकुर, पूर्वी जीप प्रतिनिधि मो क्यूम, सद्भावना विकास मंच के अध्यक्ष राज सिंह चौहान, प्रधान छोटन ठाकुर, भाजपा नेता रितेश गुप्ता, विहिप के गुरुदेव गुप्ता, पत्रकार दयानंद चौरसिया, सुरेंद्र निषाद, पंकज केसरी आदि हाल-चाल जानने अनुमंडलीय अस्पताल पहुंचे, और इस घटना की घोर निंदा की। वही प्रशासन से दोषियों पर कड़ी कार्रवाई करने का मांग किया।