चक्रधरपूर से टोक्यो में पैरालम्पिक में इंट्री करने में के प्रभाकर राव को मिली सफलता

मातृ भूमि को मेरा नमन व शहरवासियों प्यार के लिए आभार :राव
रामगोपाल जेना
चक्रधरपूर: चक्रधरपुर शहर में जन्मे के प्रभाकर राव भले ही आज पैरालंपिक टोक्यो में हिस्सा ले रहे हैं परंतु वे अपना जन्म स्थली को नहीं भूले हैं। इस बात का उललेख करना जरूरी है कि के प्रभाकर राव को लोग चंटी भाई के रूप में जानते है ।उन्होंने मातृभूमि को प्रणाम करते हुए शहर वासियों का मिले प्यार के लिए आभार जताया है।
के प्रभाकर राव वर्तमान जेबीए के सचिव हैं और इन्हीं के नेतृत्व में भारत की सात सदस्य पैरा बैडमिंटन टीम टोक्यो के लिए रवाना हुई है वैसे तो 24 अगस्त से टोक्यो में पैरालंपिक शुरू हुआ ह इनकी टीम 1 सितंबर को टोक्यो में खेलेगी।
प्रभाकर राव को पैरालंपिक कमेटी ऑफ इंडिया व बैडमिंटन एसोसिएशन ऑफ इंडिया ने भारतीय पैरा बैडमिंटन टीम का कोच व मैनेजर नियुक्त किया है के प्रभाकर राव भारतीय टीम के लीडर भी होंगे उन्होंने बताया कि यह उनके लिए बहुत ही ऐतिहासिक क्षण है।। उन्होंने कहा कि भले ही हुए आज जमशेदपुर में रह रहे हैं परंतु चक्रधरपुर को कदापि नहीं भूले हैं आज भी वे जहां भी जाते हैं चक्रधरपुर का नाम जोड़कर ही अपना परिचय देते है क्योंकी यहाँ के गुरुजनों का आशीर्वाद व लोगो का प्यार के बदौलत ही वे टोक्यो तक सफर करने में सफलता पाई है
उन्होंने इस बात को दोहराते हुए कहा कि हमारी टीम टूर्नामेंट में कम से कम तीन पदक जरूर हासिल करेगी।उनकी टीम में वर्ल्ड नम्बर वन प्रमोद भगत ,वर्ल्ड नम्बर 3 सुभाष एलवी खिलाड़ी शानदार फार्म में है सुभाष एलवी नोयडा में डीएम है उनके कोच दौरणाचार्य अवार्डी गौरव खन्ना है