सिंहपुर में करम महोत्स व झूमर प्रतियोगिता का आयोजन

बोकारो से जय सिन्हा
बोकारो: कसमार में करमा पर्व झारखंड की संस्कृति का एक अभिन्न हिस्सा है। हमें झारखंड की संस्कृति को बचाये रखने की जरूरत है। क्योंकि भाषा संस्कृति ही झारखंड की पहचान है। यह बातें गुरुवार को स्थानीय विधायक डॉ लंबोदर महतो ने कसमार प्रखंड के सिंहपुर में जागो-जगाओ सांस्कृतिक कला मंच द्वारा आयोजित करम महोत्सव सह झूमर प्रतियोगिता कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कही। इन अवसर पर विधायक ने विकास कार्यों की भी चर्चा करते हुए कहा कि क्षेत्र के विकास के लिए अनेक योजनाओं पर काम चल रहा है। इससे विरोधी बौखला गए हैं। विशिष्ट अतिथि बेरमो एसडीओ अनंत कुमार ने कहा कि कसमार में काफी संख्या में संस्कृतिकर्मी हैं, जो काफी खुशी की बात है। इन कलाकारों का संस्कृति के क्षेत्र में सराहनीय योगदान है।
कार्यक्रम में विभिन्न गांवों के झूमर दलों ने अपनी प्रस्तुति दी।
मौके पर बीडीओ विजय कुमार, सीओ प्रदीप कुमार शुक्ला, थाना प्रभारी अनिल कुमार, विधायक प्रतिनिधि अशोक कुमार सिंह, पूर्व जिप सदस्य विमल कुमार जायसवाल, मुखिया विष्णुचरण महतो, आजसू के प्रखंड अध्यक्ष महेंद्रनाथ महतो, सचिव उमेश कुमार महतो, प्रसिद्द खोरठा गीतकार विनय तिवारी, साहित्यकार सुरेश नारायण राठौर, सुकुमार, बासु बिहारी, महेंद्रनाथ गोस्वामी ‘सुधाकर’, घनश्याम महतो, जलेश्वर महतो, समाजसेवी उमेश कुमार जायसवाल, सरस्वती सिंह, निशाकर दे, संजय महतो, गुलाबचंद्र, अमरदीप महाराज, कमलेश्वर महतो, कैलाशचंद्र महतो, सचिव सह निदेशक विनोद कुमार महतो ‘रसलीन’, राजेश कुमार मुर्मू, सुनील कालिंदी, प्रेमचंद कालिंदी, दशरथ महतो, विकास कुमार, विजय कुमार, अमर कुमार आदि मौजूद थे। संचालन
मंच के अध्यक्ष अशोक कुमार महतो ने किया।