विश्व आदिवासी दिवस पर विरसा किसानों के सम्मान में केसीसी ऋण वितरण शिविर का आयोजन

 राज्य के परिवहन मंत्री चंपई सोरेन, उपायुक्त समेत मंचासीन अतिथियों द्वारा दीप प्रज्वलित कर शिविर का किया गया शुभारम्भ

सरायकेला। विश्व आदिवासी दिवस के शुभ अवसर पर सरायकेला शहरी क्षेत्र स्थित टाउन हॉल में विरसा किसानों के सम्मान में केसीसी ऋण वितरण शिविर का आयोजन सोमवार को किया गया। शिविर का शुभारम्भ राज्य परिवहन मंत्री सह सरायकेला विधायक चम्पाई सोरेन, उपायुक्त अरवा राजकमल, उप विकास आयुक्त एवं मंचासीन अतिथियों द्वारा संयुक्त रूप से दीप प्रज्वलित कर किया गया। मौके पर जिला कृषि पदाधिकारी विजय कुजूर द्वारा मंचासीन अतिथियों का स्वागत किया गया।
कार्यक्रम से पूर्व माननीय मुख्यमंत्री के अध्यक्षता में रांची में होने वाले राज्य स्तरीय कार्यक्रम का सीधा जीवंत प्रसारण किसानों के मध्य पर्दे पर दिखाया गया। उपायुक्त अरवा राजकमल ने कार्यक्रम में उपस्थित सभी अतिथियों, पदाधिकारियों एव किसान मित्रो का स्वागत किया। उन्होंने बताया कि हमारे राज्य मे आदिवासी भाई काफ़ी संख्या में हैं। जिन्हे अपना जीवन यापन करने के लिए खेती के साथ पशुपालन बहुत ही महत्वपूर्ण है। बताया कि हमारे किसान भाइयों के सहयोग हेतु सरकार द्वारा विभिन्न योजनाए चलाई जा रही है जिसके अंतर्गत आज KCC कार्ड वितरण एवं क़ृषि लोन उपलब्ध कराई जा रही है। उन्होंने कहा आप सभी किसान भाइयो के सहयोग से राज्य में KCC ऋण वितरण मे सरायकेला खरसावां जिला सबसे अव्वल स्थान पर है। उन्होंने कहा कुल चयनित किसानो में अब तक लगभग 90% किसानो को KCC का लाभ मिल चूका है। तथा अन्य लाभुकों के बैंको में लंबित आवेदनों को भी के चयन हेतु कार्यक्रम किया जा रहा है। इस दौरान उपायुक्त ने सभी आये हुए किसानो को अपने आस पास के ऐसे किसन जो KCC से वंचित रह गए हो उन्हें KCC से सम्बंधित जानकारी देते हुए लाभुकों को इसका लाभ लेने हेतु प्रेरित करें।

मंत्री चम्पई सोरेन ने सर्वप्रथम राज्यवासी एवं जिले वासियों को विश्व आदिवासी दिवस की शुभकामनाएं दी एवं उपस्थित सभी आदिवासी भाई बहनो एव किसानो का स्वागत किया। अपने सम्बोधन में उन्होंने आदिवासी योद्धाओ के बलिदान एवं वीरता की बात कही। उन्होंने यह भी बताया कि कैसे देश के लिए हमारा यह क्षेत्र अत्यधिक महत्वपूर्ण है।

इस दौरान उन्होंने आये हुए सभी किसान लाभुकों को बताया कि किस प्रकार किसान हमारे देश के लिए सबसे महत्वपूर्ण हिस्सा है। उन्होंने सभी आदिवासी भाई बहनो से अपने राज्य की परम्परा, भाषा एवं संस्कृति को बनाये रखने की बात कही। उन्होंने कहा कि इस प्रकार के कार्यक्रम का मुख्य उद्देश्य क़ृषि एवं पशुधन को बढ़ावा देना है। किसान बंधुओ को सम्बोधित करते हुए कहा कि हमारे राज्य मे जहां एक तरफ उद्योग है वही दूसरी तरफ खेत खलिहान भी है। हम दोनों ही क्षेत्र में विकसित हो कर अपने राज्य को आगे ले जा सकते है। उन्होंने राज्य के किसानो को सरकार के जनकल्याणकारी योजनाओं से जुड़ अपने स्थिति को और बेहतर बनाने की अपील की। उन्होंने कहा राज्य के कृषक चाहे वो खेती करते हो या पशुपालन, मत्स्यपालन, बतख व मुर्गी पालन उनके बेहतरी के लिए राज्य सरकार मुख्यमंत्री पशुधन विकास योजना, KCC जैसे लाभकारी योजनाएं संचालित कर रही हैं। जिससे राज्य के कृषको के आय में वृद्धि की जा सके। तथा उन्हें खेती के समय ऋण के रूप में आर्थिक सहयोग कर उन्हें सशक्त बनाया जा सके।
कार्यक्रम के दौरान माननीय मंत्री चंपई सोरेन, उपायुक्त अरवा राजकमल, उप विकास आयुक्त एवं मंचासीन अतिथियों द्वारा चयनित कृषकों के बीच केसीसी ऋण वितरण हेतु डमी चेक, स्पेयर मशीन व अन्य परिसम्पतियों का वितरण किया गया।
▪️ 03 लाभुकों को स्पेयर मशीन

▪️ 06 लाभुकों को बीच पंप सेट

▪️ सभी 08 बैंको के चयनित 2500 लाभुकों हेतु 10. 22 करोड़ का KCC ऋण वितरण हेतु चेक प्रदान किया गया।
▪️ मुख्यमंत्री पशुधन विकास योजना के तहत 06 लाभुकों को बत्तख चुजा का वितरण किया गया।
कार्यक्रम के दौरान उपरोक्त के अलावा उप विकास आयुक्त प्रवीण कुमार गागराई, आईटीडीए निदेशक संदीप कुमार दोराइबुरु, अपर उपायुक्त सुबोध कुमार, अनुमंडल पदाधिकारी सरायकेला राम कृष्ण कुमार, जिला कृषि पदाधिकारी, जिला गव्य विकास पदाधिकारी, जिला पशुपालन पदाधिकारी, जिला जनसंपर्क पदाधिकारी प्रखंड विकास पदाधिकारी सरायकेला, सहायक जनसंपर्क पदाधिकारी सहित अन्य की उपस्थिति रही।