खनन विभाग की मनमानी माइनिंग चलान के आभाव में कोयला रेक लोडिंग बाधित

राजकिशोर सिंह की रिपोर्ट

रांची:  सीसीएल के साउथ तापिन से चरही रेलवे साइडिंग तक हजारीबाग के खनन विभाग के पदाधिकारियों के स्थिलता के कारण रेक लोडिंग बंद है.उक्त विभाग के पदाधिकारियों द्वारा माइनिंग चलान साउथ तपीन कोलियरी को निर्गत नहीं किया गया है. इस कारण लाखों रूपये का राजस्व नुकसान हुआ है. उक्त रेलवे साइडिंग से प्रति दिन एक रेक कोयला विभिन्न विद्युत तापघरों को भेजा जाता है. विदित हो की सितंबर में 10दिन एवं अक्टूबर में विगत तीन तारीख से कोयला शमपरेशन बंद है. वहीं विभागीय पदाधिकारी द्वारा कोयला दुलाइ कार्य में लगे हाइवा को जाँच के नाम पर परेशान की जाती है. हलाकी चलान ऑनलाइन निर्गत सीसी एल भी कर सकता है. लेकिन नेट में चलान पेपर ही नहीं डाला जाता है. इस कारण राज्य एवं केंद्र सरकार को राजस्व की हानि होना लाजमी है. वाबजुद उक्त विभाग के पदाधिकारियों के द्वारा चलान निर्गत नहीं किया जाना समझ से परे है. जबकि सीसीएल द्वारा खनन विभाग को चलान निर्गत करने के नाम पर अनावश्यक कागजातों का डिमांड किया जाता है. जबकि विभाग स्मूथली कार्य चलाने के लिए जब नेट से चलान खत्म होते ही नया चलान भर देना चाहिए. इस संबंध में खनन विभाग के वरीय अधिकारियों से संपर्क करने की कोशित की गई पर संपर्क नहीं हो पाया.