किसान केसीसी ऋण के लिए बैंक ऑफ इंडिया का लगा रहे चक्कर, सुनने वाला कोई नहीं

बसंत कुमार गुप्ता

गुमला.सिसई:-बैंक ऑफ इंडिया सिसई शाखा से प्रखंड के किसानो को किसान त्रृण नही मिलने से किसान काफी परेशान हैं।एक तरफ लाॅकडाॅउन से किसानों की बिगड़ती आर्थिक स्थिति से तबाह किसान खेती करने के लिए त्रृण लेने को लेकर लाॅक डाॅउन से पहले से ही बैंक का दौड़ लगा लगा कर लोग थक जा रहें है. लेकिन शाखा प्रबंधक हाॅरो जी किसानो को त्रृण देने के बजाय आजकल आजकल कह कर किसानो को परेशान करने मे लगा हुआ है।रोपनी
रोपाई का समय पार होता देख गरीबी के वजह से किसान काफी मायूस है।
किसानो का कहना है कि तीन माह पहले से ही किसान त्रृण के लिए फोर्म भर कर बैंक ऑफ इंडिया मे जामा कर त्रृण के लिए दौड़ लगा रहें हैं लेकिन आज तक भी मनैजर हमलोगो का त्रृण पास नही कर रहा।
इतना आय भी नही है कि रोज 100 रूपया खर्च कर एक ही काम से सिसई आना संभव नही है।
त्रृण नही मिलने से हम किसानो के पास खेती करना पहाड़ जैसा समस्या खड़ा हो गया है जिस कारण चिंता सताने लगा है कि खेती कैसे किया जाए समझ मे नही आ रहा है।
अभी किसी तरह मजदूरी कर अपना परिवार का दो वक्त का पेट तो भर रहें हैं लेकिन कब तक।
वही एक तरफ सरकार का साफ निर्देश है कि किसानो को खेती करने के लिए संबंधित बैंक जल्द से जल्द त्रृण दे।
उसके बावजूद भी बैंक मनैजर सुनने को तैयार नही है।