कृषि के क्षेत्र में भी खूंटी को आर्दश जिला बनाना है: मुण्डा

खूंटी: खूंटी नगर भवन सभागार में आज कृषक गोष्ठी का आयोजन किया गया था। गोष्ठी में बतौर मुख्य अतिथि जनजातीय मामलों के केंद्रीय मंत्री अर्जुन मुंडा ने किसानों से सीधी वार्त्ता की किसानों ने जिले में हो रही खरीफ, रबी और कैश क्रॉप के उत्पादन और बाजार व्यवस्था एवम सिंचाई योजनाओं की कमी से अवगत कराया।
केंद्रीय मंत्री अर्जुन मुंडा ने कहा कि खुंटी जिला बिरसा मुंडा की धरती है और बिरसा मुंडा के कारण जिले की पहचान आदर्श जिले के रूप में है लेकिन अब जिले को कृषि के क्षेत्र में भी आदर्श जिला बनाने की जरूरत है। इसके लिए भारत सरकार की ओर से जितनी जरूरत हो राशि दी जाएगी। राज्य सरकार से भी बातचीत कर किसानों के बेहतरी के लिए हर संभव प्रयास किये जायेंगे। जिला प्रशासन अब यह सुनिश्चित करे कि जिले में कृषि तकनीक के आधार पर किसानों की आय दुगुनी कैसे करें।
किसानों के प्रशिक्षण की व्यवस्था, खाद बीज ससमय उपलब्ध कैसे हो। प्रत्येक पंचायत में कृषि उपज का क्रय-विक्रय केंद्र बने। पंचायतवार कृषि उपजों का डाटा संग्रह हो ताकि पंचायतवार यह बताया जा सके कि किस पंचायत में क्या क्या कृषि उपज ज्यादा होता है या बहुत कम होता है। पंचायतवार कृषि उपज का डाटा जिले में संग्रहित रहे ताकि
किसानों को समृद्ध बनाया जा सके। जिले के प्रत्येक प्रखण्ड की अपनी कृषि उपज की पहचान बने। खूंटी लाह के उत्पादन में पूर्व से ही बेहतर रहा है। कैसे लाह की अंतरराष्ट्रीय मार्केटिंग की जा सके इसकी पहल करनी चाहिए। पंचायतों और प्रखंडों में कोल्ड स्टोरेज की व्यवस्था समेत फ़ूड प्रोसेसिंग यूनिट की स्थापना हो सके। भारत सरकार लगातार किसानों की आय दुगुनी करने के लिए प्रयासरत है। किसानों को आगे बढाने के लिए केंद्र के साथ साथ राज्य सरकार और जिला प्रशासन प्रयासरत रहे।
कृषक गोष्ठी कार्यक्रम में पूर्व सांसद कड़िया मुंडा, उपायुक्त शशि रंजन, तोरपा विधायक कोचे मुंडा, उपविकास आयुक्त, जिला कृषि पदाधिकारी, भाजपा जिलाध्यक्ष, खुंटी के प्रमुख उपप्रमुख समेत बड़ी संख्या में जिले के किसान मौजूद थे।