विश्व आदिवासी दिवस कुडमी मोर्चा ने धूमधाम से मनाया, शीतल ने कहा- टोटेमिक कुरमी आदिकाल से आदिवासी हैं

रांची:  आज टोटेमिक कुरमी/कुडमी विकास मोर्चा,रांची जिला समिति के बैनर तले विश्व आदिवासी दिवस, मोर्चा के जिला अध्यक्ष रामदयाल महतो की अध्यक्षता में शहीद रघुनाथ महतो चौक में धूमधाम से मनाया गया! कार्यक्रम के दौरान परंपरागत वेशभूषा और पारंपरिक वाद्य यंत्र ढोल,नगड़ा,ढांक,बांसुरी, शहनाई,तुरी गाजे-बाजे कुरमाली लोकगीत के साथ पारंपरिक तौर-तरीकों के साथ मोर्चा के नेताओं ने प्रदर्शित किया! इस मौके पर टोटेमिक कुरमी/कुडमी विकास मोर्चा के केंद्रीय अध्‍यक्ष शीतल ओहदार ने कहा कि टोटेमिक कुरमी आदिकाल से आदिवासी हैं. जल, जंगल, जमीन और भाषा-संस्‍कृति ही आदिवासियों की पहचान है. अभी सबसे बड़ी चुनौती अपनी पहचान को सुरक्षित रखना है. सरकार के द्वारा कुरमियों की पहचान मिटाने की कोशिश की जा रही है जिसे बर्दास्त नही किया जायेगा! केंद्रीय महासचिव रामपोदो महतो ने कहा है कि तमाम राज्य सरकार सहित केंद्र सरकार भारत के तमाम आदिवासीयों को एक विशेष पहचान का दर्जा दें. उनके धर्म संस्कृति सभ्यता और परंपरा उनके अस्तित्व और अस्मिता जल जंगल जमीन की रक्षा करें. सरकार से अपील करते हुए कहा कि सर्वांगीण विकास पर पहल करें जिससे देश की अति प्राचीन एवं पौराणिक सभ्यता संरक्षित रहे!
मौके पर रामपोदो महतो, ओम प्रकाश महतो, सखिचन्द महतो, सुषमा देवी,रामदयाल महतो, फुलको देवी, देवेंद्र महतो, सोनालाल महतो,नरेश कुरमी, नंदलाल महतो, दिनेश महतो, अजीत महतो, ब्रजलाल महतो, रावंती देवी,कमलेश महतो,दीपांकर महतो,अनिमा महतो, रतन महतो,अमृता देवी,लीला देवी, रुबी देवी, पूनम देवी,सविता देवी आदि उपस्थित थे!