बढ़ती हुई महंगाई के विरोध में वामदलों के धरना प्रदर्शन 18 जून को : महेंद्र पाठक

रामगढ़: भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी झारखंड राज्य के सहायक सचिव महेन्द्र पाठक ने कहा कि 18 जून 2021 दिन शुक्रवार को देश में बढ़ती हुई बेतहाशा महंगाई के विरोध में वाम दलों की ओर से जिसमें सीपीआई ,सीपीआईएम, सीपीआईएमएल एवं मासस के द्वारा संयुक्त रूप से विरोध प्रदर्शन किया जाएगा । पाठक ने कहा केंद्र सरकार महामारी में अवसर तलाशते हुए देश के उद्योगपतियों पूंजीपतियों को लाभ पहुंचाने के लिए लगातार राष्ट्रीय संपदा को रेल ,सेल कोयला, इस्पात, हवाई अड्डे, रेलवे स्टेशनों ,सहित कई संपदाओं को बेचा जा रहा है । अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल के दामों में काफी गिरावट के बावजूद देश में डीजल पेट्रोल के दाम आसमान छू रहे हैं। जिससे सभी तरह के आवश्यक वस्तुओं के दाम मे बढ़ोतरी हुई है। जिससे आम जनता का जीना दूभर हो गया है। केंद्र की मोदी सरकार 7 वर्षों में नोटबंदी, जीएसटी, तालाबंदी के माध्यम से अघोषित आपातकाल जैसी स्थिति पैदा कर दी है। देश में विदेशी कर्ज बढ़ते जा रहे हैं। लेकिन केंद्र की मोदी सरकार अपनी शान शौकत को बढ़ाने के लिए कौड़ी के भाव में राष्ट्रीय संपदाओं को बेच रही है। पूरे राज्य में जन वितरण प्रणाली की व्यवस्था चरमरा चुकी है, गरीबों को 5 किलो अनाज मुफ्त देने की बात भी बेमानी साबित हो रही है । राज्य में दुकानदारों के द्वारा अधिकारियों की मिलीभगत से प्रति यूनिट 1 किलो अनाज कम दिया जा रहा है। पूरे राज्य में लाखों क्विंटल अनाज के घोटाले हो रहे हैं । केंद्र सरकार की जनविरोधी नीतियों के कारण देश में लगातार महंगाई बढ़ रही है। जिससे आम जनता का जीना दूभर हो चुका है । मोदी सरकार हर मोर्चे पर विफल रही है , इसीलिए वामदलों ने तय किया है कि 18 जून 2021 को राज्य के सभी जिलों प्रखंडों एवं गांव गांव में सरकार की जनविरोधी नीतियों के कारण बढ़ती हुई महंगाई के विरोध में धरना प्रदर्शन किया जाएगा , और बड़े पैमाने पर प्रेस कॉन्फ्रेंस ,प्रिंट मीडिया, इलेक्ट्रॉनिक मीडिया, सोशल मीडिया, के माध्यम से प्रचार प्रसार कर कार्यक्रम आयोजित किए जायेंगे। कार्यक्रम की सफलता के लिए वामदलों के सभी कार्यकर्ताओं से आह्वान किया गया है कि केंद्र सरकार कि 7 वर्षों की विफलता के कारण बढ़ती हुई महंगाई के विरोध में आम जनता को गोलबंद करें ।