कई क्षेत्रों में चलाया गया विधिक जागरूकता के कार्यक्रम

रामगोपाल जेना
चाईबासा: आजादी का अमृत महोत्सव कार्यक्रम के तहत राष्ट्रीय और झारखंड राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण आजादी का अमृत महोत्सव कार्यक्रम के तहत राष्ट्रीय और झारखंड राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण के निर्देशानुसार तथा सचिव जिला विधिक सेवा प्राधिकरण सह प्रधान जिला एवम् सत्र न्यायधीश मनोरंजन कवि के दिशा निर्देश में जिला विधिक सेवा प्राधिकरण पश्चिमी सिंहभूम चाईबासा के तत्वावधान मे आज 30 अक्टूबर 2021 को कार्यक्रम के 29 वें दिन जिले के प्रखंडों सदर चाईबासा, झींकपानी, मझगांव, चक्रधरपुर, तांतनगर, मंझारी, खुंटपानी और गोइलकेरा में विधिक जागरूकता के कार्यक्रम आयोजित किए गए।
झीकपाणी प्रखंड में आयोजित जागरूकता कार्यक्रम में जिला एवं सत्र न्यायाधीश श्री मनोरंजन कवि उपायुक्त श्री आनंद मित्तल, प्रखंड विकास पदाधिकारी झींकपानी, सचिव जिला विधिक सेवा प्राधिकरण राजश्री अपर्णा कुजुर, प्रखंड विकास पदाधिकारी चाईबासा श्रीमती पारुल सिंह सहित अन्य पदाधिकारी उपस्थित हुए, इस मौके पर उपस्थित लोगों को विधिक जानकारियां प्रदान की गई तथा विधिक सामग्रियों सहित संपत्तियों ट्रैक्टर, मिनी ट्रैक्टर, वृद्धा पेंशन सर्टिफिकेट, कृषि उपकरण, धोती साड़ी, कृषि हेतु बीज तथा अन्य सामग्रियों का वितरण भी किया गया, इस मौके पर 7 पंचायत के लगभग 800 की संख्या में ग्रामीण उपस्थित थे।
सदर प्रखंड के लूपुंगुटू पंचायत के 4 गांव में पीएलबी संजय निषाद और मो शमीम ने एक जागरूकता शिविर का आयोजन किया तथा 150 लोगों को जागरूक किया, डोर टू डोर अभियान के तहत कुंटा गांव में 15 लोगों को लाभान्वित किया गया,
सदर प्रखंड गाड़ी खाना में ड़ोर टू डोर कार्यक्रम का आयोजन किया गया इस अवसर पर महिलाओं से सम्बंधित अपने अधिकार एवंम कर्त्तव्य बताया गया 50 घरों का भर्मण किया गया 40 से अधिक लोग मौजूदथे प्राधिकार का पंपलेट 70 लोग को वितरण किया गया का यह कार्यक्रम पी एल वी संगीता देवी के द्वारा किया गया
सदर प्रखंड वार्ड नंबर 21 टूंगरी में डोर टू डोर कार्यक्रम का आयोजन किया गया, इस अवसर पर महिलाओं से संबंधित अपने अधिकार एवं कर्तव्य के बारे में बताया जिसमें 40 घरों का भ्रमण किया गया और 40 से 50 घरों में लीफलेट और पंपलेट का वितरण किया गया यह कार्यक्रम पीएलबी रत्ना चक्रवर्ती द्वारा किया गया
गोइलकेरा प्रखंड में आयोजित कार्यक्रम में पीए एलबी एंजेला कंडुलना और अतेन सुरिन के द्वारा विधिक जागरूकता का कार्यक्रम किया गया जिसमें प्रखंड विकास पदाधिकारी और कृषि विकास पदाधिकारी भी उपस्थित थे, इस मौके पर लगभग 500 लोगों को विधिक जानकारी दी गई तथा 140 लोगों से फॉर्म वन लिया गया।
मंझारी प्रखंड के बेलासाई, भरभरिया तथा तांतनगर के कासिया पंचायत में पीएलबी बाबुल पड़ेया और पार्वती समद के द्वारा कार्यक्रम का आयोजन किया गया तथा कई जानकारी प्रदान की गई जिसमें 190 लोग उपस्थित हुए
मझगांव प्रखंड के पडसा क्षेत्र में पीएलवी तराना खातून ने विधिक जागरूकता व डोर टू डोर कार्यक्रम का आयोजन किया तथा 95 लोगों को विधिक जागरूकता प्रदान की तथा 11 लोगों से फॉर्म वन भी भराया गया।
प्रखंड चक्रधरपुर के प्रखंड कार्यालय में विधिक सेवा केंद्र में 30 लाभुक उपस्थित हुए जिसमें 6 लोगों का फॉर्म-1 भरा गया और ब्लॉक चक्रधरपुर में श्रमिक निबंधन के शिविर में 15 लोगों का ऑनलाइन श्रमिक निबंधन करवाया गया उक्त कार्यक्रम में वपीएलबी श्वेता रवानी राजशेखर रवानी ने प्रमुख भूमिका निभाई।
प्रखंड तांतनगर के गांव मुरडीह एवं प्रोजेक्ट उच्च विद्यालय काठभारी में विधिक जागरूकता शिविर का आयोजन किया गया । जिसमें अर्ध विधिक स्वयं सेवक सुश्री सुमन कारोवा एवं ननकु मुंडा उपस्थित थे। ग्रामीण एवं छात्र छात्राओं को जागरूक करते हुए उन्हें विधिक जानकारी दिया। और पंपलेट को भी वितरण किया ।
खूंटपानी ब्लॉक के पुरूनियापंचायत में लोगों को जागरूक करते हुए पीएलवी अलकमा रुही नीलम मनरेगा की श्रम कार्ड आदि के बारे में विस्तृत रूप से लोगों को जानकारी दी
प्रखंड चक्रधरपुर के पंचायत असंतलिया अंतर्गत 10 गांव का भ्रमण कर ग्रामीणों से संपर्क कर उन्हें विधिक जागरूकता सहायता की जानकारी दी गई जिसमें कुल 364 ग्रामीणों ने अपने अधिकार और कर्तव्य को जाना साथ ही उन्हें प्राधिकार से संबंधित है पंपलेट वितरण किया गया साथ ही नालसा एप और वृद्ध नागरिकों की टोल फ्री नंबर 14567 की जानकारी दी गई 9 ग्रामीणों का फॉर्म 1भरा गया, उपरोक्त कार्यक्रम में पीएलबी राजशेखर रवानी और पीएलबी स्वेता रवानी ने प्रमुख भूमिका निभाई।
मंडल कारा में आयोजित विधिक जागरूकता शिविर में वरिष्ठ अधिवक्ता सह मुख्य अधिकारी एलएडीसी सुरेंद्र प्रसाद ने सत्र वादों में में ट्रायल किस तरह चलता है इसके संबंध में विस्तार पूर्वक बताया तथा वरिष्ठ अधिवक्ता सुरेन्द्र प्रसाद दास ने मुकदमों का निपटारा कैसे किया जा सकता है इसके संबंध में विस्तार पूर्वक बताया गया, इस दौरान अधिवक्ता श्री रत्नेश कुमार भी उपस्थित थे उपरोक्त जानकारी प्राधिकरण की सचिव श्रीमती राजश्री अपर्णा कुजुर ने दी।