आंधी पानी के दौरान राहेवीर शिव मंदिर पर गिरी बिजली, मंदिर का गुम्बद हुआ क्षतिग्रस्त

3 से 4 महीना बीत जाने के बाद भी किन्ही समाजसेवियों,पदाधिकारी व बड़े नाम के चर्चित रहे। मंदिर की क्षतिग्रस्त गुंबद का नहीं लिया जायजा

पांकी से लौकेश सिंह की रिपोर्ट

पांकी: पलामू जिले के पांकी प्रखंड के राहेवीर पहाड़ी शिव मंदिर पे 3 से 4 महीना पहले तेज आंधी पानी के दौरान आकाशीय बिजली गिरने से मंदिर का गुंबद क्षतिग्रस्त हो गया। मंदिर पर ठनका गिरने से मंदिर का पुजारी दस्तक में आकर काफी भयभीत गए थे।मंदिर के पास में निवास करने वाले ग्रामीणों ने बताया कि जिस समय बिजली गिरी उस समय मंदिर का पुजारी सुशील पंडित उपस्थित वहीं पर थे।
व बाल–बाल उन्होंने दुर्घटना होने से बचा। साथ ही आस-पास के लोगों ने बताया कि ऐसा लगा मानो गांव में बम फटा है जब लोगों ने देखा कि मंदिर के गुंबद पर बिजली गिरी।असामाजिक तत्वों द्वारा पहाड़ के चारों तरफ से अतिक्रमण किया जा रहा है। साथ ही मेन रोड से राहेवीर पहाड़ी मंदिर पर पहुंचने के लिए सही से रास्ता नहीं। व पहाड़ पर लगाए गए फूल–पौधे व पेड़ को असामाजिक तत्वों द्वारा बर्बाद किया जा रहा है।आपको बताते चले कि पांकी करपुरी ठाकुर चौक से महज 1 किलोमीटर दूर लोहरसी रोड बाई और राहेवीर पहाड़ी पर स्थित भगवान भोलेनाथ का मनोकामना पूर्ण शिव मंदिर तक जाने के लिए लगभग 300 सीढ़ियां चढ़ने के बाद भगवान भोलेनाथ का दर्शन होता है।मंदिर का निर्माण कुछ ही वर्ष पहले कुछ महान हस्तियों द्वारा कराया गया था। मंदिर का निर्माण कार्य साउथ के कलाकारों द्वारा किया गया था।प्राकृतिक सौंदर्य से परिपूर्ण अद्भुत मंदिर जो झारखंड के गिने-चुने शामिल है।बावजूद आज तक स्थानीय जनप्रतिनिधियों व अधिकारियों द्वारा इस मंदिर का चार दिवारी नहीं किया गया। ना ही मंदिर को पर्यटन क्षेत्र घोषित किया गया जो कि बेहद अफसोस की बात।