पाकुड़ के मौसी बाड़ी से अपने घर पहुंचे भगवान मदन मोहन

पाकुड़: आठ दिवसीय रथ उत्सव का समापन मंगलवार को उल्टा रथ के रूप में हुआ। उल्टा रथ को लेकर सुबह से ही शहर में काफी चहल-पहल देखी गई पाकुड़ शहर के राजा पाड़ा स्थित नित्य काली मंदिर में भगवान मदन मोहन के दर्शन को लेकर श्रद्धालुओं की भारी भीड़ देखी गई लोग भक्ति भाव के साथ भगवान की पूजा अर्चना किया। यहां बता दें कि रथ उत्सव के प्रथम दिन भगवान मदन मोहन अपने मासी बाड़ी आते हैं और उल्टा रथ के दिन अपने मासी बाड़ी से रथ में सवार होकर अपने धाम को वापस चले जाते हैं। उल्टा रथ के अवसर पर भगवान मदन मोहन की पूजा अर्चना पुरोहित के द्वारा पूरे विधि विधान के साथ किया गया इसके बाद भगवान को रथ में सवार किया गया इस दौरान काफी उत्साह का माहौल देखा गया। यहां बता दें कि पाकुड़ जिला में रथ पूजा पूरे उल्लास के साथ मनाया जाता है।कोविड-19 के दिए गए गाइडलाइन के तहत इस बार भी रथ की सवारी नहीं निकाली गई साथ ही कोविड-19 के गाइडलाइन का पालन किया गया। वहीं जिला के महेशपुर समेत अन्य प्रखंडों में भी उल्टा रथ को लेकर काफी उल्लास देखा गया.