मयूरहंड पुलिस द्वारा बालू-तस्करी में लगे माफियाओं के खिलाफ की गई बड़ी कार्रवाई

सुभाष कुमार सिंह

मयूरहंड (चतरा) मयूरहंड थाना क्षेत्र के पेटादरी पंचायत के बड़ाकर नदी के बीरा घाट से अवैध उत्खनन में लगे नौ ट्रैक्टरों को थाना प्रभारी कौशल कुमार सिंह ने जब्त किया।थाना प्रभारी कौशल कुमार सिंह को बड़ाकर नदी के बीरा घाट पर बड़ी संख्या में अवैध बालू उत्खनन की सूचना मिली।इसकी तत्काल सूचना इन्होंने अंचलाधिकारी मयूरहंड को दिया। इसके बाद तत्वरित कार्रवाई करते हुए थाना प्रभारी छापामारी के लिए निकल पड़े और बालू घाट पर पहुंचे। अंचलाधिकारी मयूरहंड भी उत्खनन स्थल बीरा घाट पहुंचे। मयूरहंड पुलिस की पहुंचने की सूचना बालू उत्खनन में जुटे कुछ ट्रैक्टर चालकों को मिल चुकी थी।वे अपने ट्रैक्टरों को नदी के बालू में ही फंसा कर भाग गए।लगातार चार घंटे के परिश्रम के बाद थाना प्रभारी कौशल कुमार सिंह ने नदी में फंसे एक एक कर सभी वाहनों को नदी से बाहर निकलवाया। इस दौरान अवैध बालू उत्खनन में लगे माफियाओं ने अपने गुर्गों को भेजकर अशांति फैलाने और कार्य में बाधा डालने की कोशिश की,जिसे थाना प्रभारी कौशल कुमार सिंह ने अपनी सुझबुझ और सख्ती से विफल कर दिया।थाना प्रभारी के प्रयास से उपद्रवियों की मनसा पुरी नहीं हो सकी।अंचलाधिकारी विजय कुमार ने भी मौके पर पहुंच कर सभी वाहनों को जब्त कर वाहन को अपने कब्जा में लिया।जब्त किए गए गाड़ियों को छोड़ने के लिए दंडाधिकारी विजय कुमार के पास बरही विधायक का फोन आने लगा। लेकिन दबाव के बावजूद विजय कुमार और थाना प्रभारी कौशल कुमार सिंह ने जब्त गाड़ियों को छोड़ने से इंकार कर दिया और विधि सम्मत कार्रवाई करने की बात कही।प्रशासन के चंगुल से घाट पर ही ट्रैक्टरों को छुड़वाने का प्रयास असफल रहा।स्थानीय प्रशासन ने किसी भी प्रकार का निर्देश कार्यालय पहुंचने के बाद ही समर्पित करने की बात कहते रहे।इस दौरान बालू से भरा एक एक कर 9 ट्रैक्टरों को जब्त किया गया।घटना स्थल पर पुलिस निरीक्षक शिव प्रकाश कुमार थाना प्रभारी इटखोरी, निरंजन कुमार मिश्रा, सहायक अवर निरीक्षक उमानाथ सिंह, कृष्ण कुमार सिंह,श्री राम,पांडव गोराई समेत बड़ी संख्या में जिला बल व आई आर बी के जवान शामिल थे।घटना स्थल पर पहुंचे पुलिस इंस्पेक्टर ने कहा कि बालू तस्करों के खिलाफ लगातार कार्रवाई की जाएगी। उन्हें अवैध खनन करने की आजादी नहीं दी जायेगी। अंचलाधिकारी ने कहा कि सभी ट्रैक्टर मालिकों पर विधि सम्मत कार्रवाई की जाएगी। समाचार लिखे जाने तक सभी वाहनों को थाना लाया गया। ज्ञात हो कि बराकर नदी के बीरा घाट सहित कई घाटों से बालू-तस्करी वर्षों से स्थानीय ग्रामीणों के सहयोग से माफियाओं के संगठित गिरोह द्वारा किया जा रहा है। कुछ घाटों को स्थानीय ग्रामीण स्तर पर बोली लगाने वालों को वसुली का अधिकार सौंप दिया गया है।यहां से अवैध खनन किये बालू का बड़े पैमाने पर चौपारण थाना क्षेत्र में भंडारण कर मंहगे दामों में दूसरे प्रांतों में वर्षों से भेजा जा रहा है। माफियाओं का बालू-तस्करी का ये धंधा इस क्षेत्र में वर्षों से फल फूल रहा है।इन माफियाओं को राजनीतिक संरक्षण प्राप्त है जिसका ज्वलंत प्रमाण आज बरही विधायक के फोन करने से मिला। बड़ाकर नदी के इन्हीं घाटों से अवैध उत्खनन कर क्षेत्र के कुछ तथाकथित प्रतिनिधियों और दबंगों द्वारा बालू का अवैध भंडारण कर अंजनवां- जलाशय नहर-निर्माण कार्य में संवेदक को आपूर्ति की जा रही है, जिससे बार-बार घटिया निर्माण कार्य का आरोप क्षेत्र के लोगों द्वारा लगाया जा रहा है। आज की कार्रवाई से बालू-तस्करों के बीच हड़कंप मचा हुआ है।वे प्रशासन को साधने में स्थानीय नेताओं को साधने में जुटे हुए हैं। अंतिम समाचार लिखे जाने तक मुकदमा दर्ज करने की कार्रवाई की जा रही थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *