मकर सक्रांति पर भारी संख्या में भद्रकाली मंदिर में श्रद्धालुओं ने की पूजा, पवित्र स्नान को नदी, जल कुंड़ों में उमड़ी भीड़

इटखोरी(चतरा)। 14 जनवरी को कड़ाके की ठंड के बावजूद मकर संक्रांति के पावन अवसर पर सिद्धपीठ जिले के इटखोरी स्थित माता भद्रकाली मंदिर प्रक्षेत्र के मुहाने नदी के अलावे अन्य नदी घाट व जल कुंड़ों में श्रद्धालुओं ने भारी संख्या में डूबकी लगाई। अहले सुबह से ही माता भद्रकाली मंदिर क्षेत्र में भक्त पहुंच कतार में लगकर माता तथा सहस्त्र शिवलिंग महादेव का दर्शन पूजन करते दिखे। यहां झारखंड एवं बिहार राज्य के कोने-कोने से श्रद्धालु पहुंचते थे। पूजा-अर्चना के बाद श्रद्धालु मंदिर क्षेत्र के बाहर दही-चूड़ा और तिलकुट का आंनद उठाया। वहीं भीड़ को देखते हुए मंदिर प्रबंधन समिति के सदस्य, स्थानीय पुलिस प्रशासन भी सुबह से ही सुरक्षा व्यवस्था में लगे रहे। मंदिर प्रांगण में जगह-जगह महिला एवं पुलिस कर्मी तैनात थे। दुसरी ओर मंदिर परिसर में भक्ति जागरण का आयोजन रामायण कथा मंडली के संचालक बासुदेव दांगी के द्वारा किया गया। जिसमें धनबाद से आई गायिका राजलक्ष्मी सिंह द्वारा एक से बढ़कर भक्ति गानों की प्रस्तुति की गई और मंदिर पहुंचे श्रद्धालुओं ने भक्ती संगीत का अनद लिया। स्थानीय पुजारी सतीश पांडेय उर्फ मंटू बाबा ने बताया कि मकर संक्रांति के मौके पर नदियों या जलाशयों में स्नान कर देवस्थल में पूजा अर्चना से पुण्य की प्राप्ति होती है।