जिला विधिक सेवा प्राधिकार द्वारा आयोजित किए गए जिले में कई कार्यक्रम

रामगोपाल जेना
चाईबासा: राष्ट्रीय विधिक सेवा प्राधिकार नई दिल्ली के निर्देशानुसार एवं जिला विधिक सेवा प्राधिकार के अध्यक्ष सह प्रधान जिला एवं सत्र न्यायाधीश मनोरंजन कबी के दिशा निर्देश पर कई विधिक जागरूकता कार्यक्रम आयोजित किया गया।

स्थानीय मंडल कारा में 20 महिला बंदियों को विधिक जागरूकता प्रदान किया गया, इस कार्यक्रम में एलएडीसी के मुख्य अधिकारी वरीय अधिवक्ता सुरेंद्र प्रसाद ने महिला बंदियों को उनके अधिकार और कर्तव्य की जानकारी दी तथा बेल मैटर्स की जानकारी भी दी,
इसी मौके पर रत्नेश कुमार अधिवक्ता सह सदस्य एलएडीसी ने भी विभिन्न प्रकार के वादों तथा सेंटेंस पॉलिसी की जानकारी प्रदान की।

सदर प्रखंड के कई क्षेत्रों में डोर टू डोर कार्यक्रम के तहत अर्द्धविधिक स्वयंसेवकों के विधिक जागरूकता का कार्यक्रम किया गया,
विधिक जागरूकता के इस अभियान में सदर प्रखंड के महुलसाई उपरटोला में विधिक जानकारी देते हुए प्रचार सामग्री जैसे लीफलेट पंपलेट का वितरण किए गए, इस कार्यक्रम में कुल 18 ग्रामीण उपस्थित रहे, साथ ही 10 जरुरतमंद असंगठित क्षेत्रों के मजदूरों को निबंधन कार्ड भी बांटा गया।
इस अभियान में पीएलबी स्वाती मुखर्जी एवं नीतु सार उपस्थित रही
दूसरे अन्य कार्यक्रम में सदर प्रखंड के कमरहातु में लोगों को उनके मौलिक अधिकार और कर्तव्य के प्रति जागरूक किया गया, इस कार्यक्रम में फुल 10 ग्रामीणों के घरों का भ्रमण किया गया एवं प्राधिकार के द्वारा प्रदत सेवाओं का प्रचार किया गया, साथी उपस्थित लोगों को पंपलेट वगैरह भी दिया गया, उन्हें डालसा की संरचना के बारे में विस्तारपूर्वक बताया गया, यह कार्यक्रम पीएलबी रेनू देवी एवं पीएलबी संगीता देवी के द्वारा किया गया।
अभियान के इसी क्रम में
खूंटपानी प्रखंड में भी एक जागरूकता शिविर का आयोजन किया गया जिस में उपस्थित बीडीओ, सीओ तथा सीडीपीओ एवं लगभग ढाई सौ की संख्या में ग्रामीण मौजूद थे, इसमें उपस्थित पैनल लॉयर बालाजी बारिक, पीएलवी संजय निषाद और अल्कमा रूही मौजूद थी
उपरोक्त जानकारी प्राधिकार के प्रभारी सचिव सह मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी श्री शंकर महाराज ने दी।