झरझरा के टोयबो गांव में वीर शहीद पुलिस जवान लखीन्द्र मुंडा का मनाया गया शहादत दिवस

एसपी ने किया प्रतिमा का अनवरण

झरझरा से लौटकर रामगोपाल जेना

चक्रधरपुर: आज से ठीक एक साल पहले नक्सलियों से लोहा लेते हुए शहीद हुए चक्रधरपुर के सपूत पश्चिम सिंहभूम जिला पुलिस जवान वीर शहीद लखीन्द्र मुंडा का पहला शहादत दिवस मनाया गया. यह शहादत दिवस शहीद जवान लखीन्द्र मुंडा के पैतृक गाँव पश्चिम सिंहभूम जिला चक्रधरपुर प्रखंड अंतर्गत टोकलो थाना क्षेत्र के टोयबो गाँव में मनाया गया. मौके पर स्वयं जिला पुलिस कप्तान अजय लिंडा उपस्थित हुए उनके साथ चक्रधरपुर एएसपी नाथू सिंह मीणा और चक्रधरपुर थाना प्रभारी प्रवीण कुमार समेत तमाम पुलिस अधिकारी मौजूद थे.शहादत दिवस के दौरान टोयबो गाँव में वीर शहीद जवान के आदमकद प्रतिमा को स्थापित किया गया. जिला पुलिस कप्तान अजय लिंडा ने इस प्रतिमा का अनावरण किया और शहीद जवान लखीन्द्र मुंडा की प्रतिमा को माल्यार्पण कर उन्हें श्रद्धांजलि दी. मौके पर शहीद जवान की विधवा समेत उनका पूरा परिवार और गाँव के सैकड़ों की संख्या में लोग मौजूद थे. परिवार समेत पूरा गाँव गमगीन था, हर एक की आँखों में आंसू थे. अपने वीर सपूत को खोने का गम था. वीर शहीद लखीन्द्र मुंडा की पत्नी बामुनी मुंडा और उनके परिजन लखीन्द्र मुंडा की प्रतिमा को माल्यार्पण कर फफक फफक कर रोने लगे, प्रतिमा से लिपट कर लखीन्द्र मुंडा की कमी का अहसास करा दिया.मौके पर सभी पुलिस अधिकारीयों, कर्मियों, गाँव के नागरिकों ने भी प्रतिमा पर माल्यार्पण कर शहीद जवान को श्रद्धांजलि दी.

इस क्रम में एसपी अजय लिंडा व एएसपी नाथू सिंह मीणा ने शहीद लखीन्द्र मुंडा के परिजनों से उनके घर जाकर भी मुलाकात की और शोल भेंट कर उन्हें सम्मानित किया. एसपी ने परिवार से कहा की झारखण्ड पुलिस शहीद के परिवारों के साथ हमेशा खड़ी है. जब उन्हें मदद की जरुरत हो वे उनसे संपर्क करें, मदद तत्काल पहुंचाई जाएगी.बता दें कि शहीद पुलिस जवान लखिंदर मुंडा चक्रधरपुर प्रखंड के झरझरा टोयबो गांव का रहने वाला था। जहां उसे वीरगति प्राप्त हुई वह ईलाका भी उसके पैतृक निवास स्थल के पास का ही था।

31 मई 2020 को नक्सल विरोधी अभियान में नक्सलियों से मुठभेड़ के दौरान लखिंदर मुंडा को गोली लगी और वे वीरगति को प्राप्त हुए। उसके साथ ओटार गांव के एसपीओ सुंदर स्वरूप महतो भी शहीद हो गये थे।कार्यक्रम को संबोधित करते हुए एसपी अजय लिंडा ने कहा कि ये शाहदत दिवस और प्रतिमा का अनावरण इसलिए है की लोग ऐसे वीर योद्धाओं को हमेशा याद करें और उनका अनुसरण करें. गाँव में अच्छे – बुरे का फर्क लोग समझ सकें.

हमें दुःख है की हमने एक वीर जवान को खो दिया लेकिन यह गाँव हमेशा फक्र महसूस करेगा की इस गाँव में एक ऐसे वीर सपूत ने जन्म लिया। जिसने आंतरिक सुरक्षा के लिए अपने प्राण न्योछावर कर दिया और वीरगति को प्राप्त हुये. एसपी ने एसपीओ सुन्दर स्वरुप महतो को भी श्रद्धांजलि दी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *