मेडिकल की छात्रा पूजा भारती का शव घर पहुंचते ही गमगीन हुआ गोड्डा

– जस्टिस फॉर पूजा से गूंज रहा शहर
– घटना की सीबीआई जांच एवं दोषियों को अभिलंब सजा देने की हो रही मांग
गोड्डा से अभय पलिवार की रिपोर्ट
गोड्डा: हजारीबाग मेडिकल कॉलेज की प्रथम वर्ष की छात्रा पूजा भारती का शव बुधवार को सुबह घर पहुंचते ही गोड्डा का माहौल गमगीन हो गया। मृतका के पिता अवध बिहारी पूर्वे के लोहिया नगर मोहल्ला स्थित आवास पर लोगों की भीड़ उमड़ पड़ी। मेडिकल की होनहार छात्रा की अंतिम एक झलक पाने एवं परिवार को सांत्वना देने के लिए पहुंचने वालों में आम लोगों के साथ ही राजनीतिक एवं सामाजिक क्षेत्र के चर्चित चेहरे भी शामिल थे। जिला पुलिस प्रशासन के आला अधिकारी भी मृतका के घर पहुंचे। संवेदना व्यक्त करने के लिए आए लोगों की आंखें नम, चेहरे पर गम एवं वाणी में आक्रोश छलक रहा था।
मालूम हो कि हजारीबाग मेडिकल कॉलेज की छात्रा पूजा की लाश मंगलवार को रामगढ़ जिला अंतर्गत पतरातू डैम से बरामद किया गया था। पूजा के शव का हाथ एवं पैर प्लास्टिक की रस्सी से बंधा हुआ था। सोमवार को सुबह करीब 8.30 बजे घरवालों से पूजा की अंतिम बात हुई थी। उस समय पूजा नाश्ता कर रही थी। उसने बताया था कि आज उसकी परीक्षा है। उसी दिन अपराह्न करीब 3 बजे जब मां ने फिर बात करने की कोशिश की तो उसका मोबाइल स्विच ऑफ आ रहा था ‌। लगातार मोबाइल ऑफ आने के बाद घर वालों ने मेडिकल कॉलेज में पढ़ने वाली पूजा की एक सहपाठी को जब फोन लगाया तो जवाब मिला कि पूजा हॉस्टल में नहीं है। किसी अनहोनी के अंदेशे से पूजा के पिता अवध बिहारी पूर्वे अपने परिवार के एक दो लोगों के साथ सोमवार की रात ही हजारीबाग के लिए प्रस्थान कर गए थे। पिता ने चेन्नई में इंजीनियर की नौकरी करने वाले अपने पुत्र को भी हजारीबाग आने कहा।
मंगलवार को रामगढ़ जिला के पतरातू डैम में एक युवती की तैरती लाश को बाहर निकाले जाने के बाद इस बात की पुष्टि हुई कि लाश हजारीबाग मेडिकल कॉलेज की छात्रा पूजा की है।

परिजनों ने मेडिकल कॉलेज की व्यवस्था पर उठाया सवाल

मृतक पूजा के परिवारी जनों ने हजारीबाग मेडिकल कॉलेज के प्रबंधन को भी सवालों के घेरे में खड़ा किया है। परिजनों का कहना है कि पूजा की दोस्त ने जब बताया कि वह हॉस्टल में नहीं है तो वार्डन से बात करने की कोशिश की गई। कई बार कॉल करने पर वार्डन ने फोन उठाया। वार्डन को इस बात की जानकारी नहीं थी कि पूजा हॉस्टल में है या नहीं। परिजनों के फोन करने के बाद वार्डन ने पूजा की खोजबीन शुरू की। हॉस्टल में सीसीटीवी कैमरे की भी व्यवस्था नहीं थी।

शव देखने के लिए उमड़ा हुजूम

हजारीबाग से पूजा भारती का शव बुधवार की सुबह करीब 7 बजे लोहिया नगर स्थित आवास पर पहुंचा। शव आने की सूचना फैलते ही लोहिया नगर स्थित आवास पर लोगों के पहुंचने का तांता शुरू हो गया। घर के बाहर भी काफी लोग डटे हुए थे। माहौल काफी गमगीन था। लोगों की आंखें नम एवं चेहरे पर गम की परछाई थी। लोगों में राज्य सरकार के प्रति आक्रोश लग रहा था। मृतका के पिता के आवास पर पहुंचने वालों में स्थानीय भाजपा विधायक अमित कुमार मंडल, पोड़ैयाहाट के पूर्व विधायक प्रशांत कुमार, नगर परिषद के अध्यक्ष जितेंद्र कुमार उर्फ गुड्डू मंडल, पोड़ैयाहाट कॉलेज के प्राचार्य प्रोफ़ेसर प्रेम नंदन कुमार, जिला परिषद की पूर्व उपाध्यक्ष लक्ष्मी चक्रवर्ती, सामाजिक कार्यकर्ता ममता कुमारी, भाजपा के पूर्व जिला अध्यक्ष राजेश झा आदि शामिल थे।

हजारीबाग एवं रामगढ़ पुलिस के संपर्क में है गोड्डा पुलिस: एसपी

पुलिस अधीक्षक वाईएस रमेश भी मृतका के आवास पर पहुंचे। उन्होंने मीडिया को बताया कि गोड्डा पुलिस निरंतर हजारीबाग एवं रामगढ़ पुलिस के संपर्क में है। घटना की निरंतर जानकारी ली जा रही है एवं उससे मृतका के परिजनों को भी अवगत कराया जा रहा है। श्री रमेश ने बताया कि उन्होंने खुद हजारीबाग एवं रामगढ़ के एसपी से बात की है। वहां की पुलिस इस घटना का वैज्ञानिक ढंग से अनुसंधान कर रही है। घटना के दोषी लोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।

शहीद स्मारक पर दी गई मृतक छात्रा को श्रद्धांजलि

शहर के गांधी मैदान के प्रवेश द्वार पर स्थित शहीद स्मारक पर श्रद्धांजलि समारोह आयोजित की गई। विधायक अमित मंडल की अगुवाई में काफी संख्या में लोग शहीद स्तंभ पर मौजूद थे। लोगों के चेहरे पर गम एवं वाणी में आक्रोश छलक रहा था। अंतिम संस्कार के लिए भागलपुर ले जाने से पूर्व पूजा का शव शहीद स्मारक पर श्रद्धांजलि देने के लिए रखा गया। वहां मौजूद लोगों ने डॉक्टरी की होनहार छात्रा पूजा को भावभीनी श्रद्धांजलि दी। जस्टिस फॉर पूजा की मांग से शहर गुंजायमान हो उठा।

सीबीआई जांच की मांग

इस घटना से लोग काफी आहत हैं। पक्ष एवं विपक्ष की भावना से ऊपर उठते हुए राजनीतिक नेताओं ने इस घटना की कड़े शब्दों में निंदा करते हुए उच्च स्तरीय जांच एवं दोषी लोगों के खिलाफ फास्ट ट्रायल कोर्ट में सुनवाई करते हुए यथाशीघ्र सजा देने की मांग की है। विधायक अमित मंडल एवं पूर्व विधायक प्रशांत कुमार ने कहा कि इस घटना ने संपूर्ण राज्य को शर्मसार किया है। राज्य सरकार अपराधियों पर लगाम कसने एवं दुष्कर्म तथा हत्या की घटनाओं पर रोक लगा पाने में पूरी तरह विफल सिद्ध हुई है। राज्य सरकार की जांच एजेंसी पर उन्हें भरोसा नहीं है। इसलिए इस घटना की सीबीआई से जांच कराई जाए। साथ ही दोषी लोगों के खिलाफ फास्ट ट्रायल कोर्ट में मुकदमा चलाकर उन्हें यथाशीघ्र सजा देने की व्यवस्था की जाए।

कांग्रेस विधायक दीपिका ने मुख्यमंत्री को किया ट्वीट

dipika pandey mla congressकांग्रेस विधायक दीपिका पांडेय सिंह ने भावुक होकर मुख्यमंत्री को ट्वीट किया है कि झारखंड में अपराधियों ने सारी हदें पार कर दी है। लगातार महिलाओं और लड़कियों के खिलाफ आपराधिक मामले बढ़ते जा रहे हैं। विधायक श्रीमती सिंह ने अपने टि्वटर हैंडल पर लिखा है कि ‘मुख्यमंत्री जी मैं एक महिला के तौर पर विनम्र विनती करती हूं कि संलिप्त दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई हो ताकि प्रदेश सुरक्षित रहे ।’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *