एसडीओ के पहल पर मेडिकल दुकानों को किया गया सील मुक्त

गोड्डा: बसंतराय प्रखंड के गोपीचक एवं पथरगामा प्रखंड के गांधीग्राम में फार्मासिस्ट के नाम पर दो मेडिकल दुकानों को स्थानीय प्रशासन द्वारा सील कर दिया गया था। इस मुद्दे पर जिला केमिस्ट एंड ड्रगिस्ट एसोसिएशन ने गोड्डा के अनुमंडल पदाधिकारी ऋतुराज से मिलकर फार्मासिस्ट के नाम पर सील की गई मेडिकल दुकानों को खोलने का आग्रह किया था। अनुमंडल पदाधिकारी के आदेश पर दोनों दुकानों को खोल दिया गया है।
जिला केमिस्ट एंड ड्रगिस्ट एसोसिएशन के अध्यक्ष मुकेश कुमार गाडिया ने बताया कि अनुमंडल पदाधिकारी श्री ऋतुराज ने एसोसिएशन की भावनाओं को गंभीरता पूर्वक समझते हुए कार्रवाई की एवं दुकानों को सील मुक्त कराया।
मालूम हो कि गोड्डा जिला समेत झारखंड के 90 फ़ीसदी से अधिक दुकानों में फार्मासिस्ट नहीं हैं। हालांकि दवाई की दुकानों में व्यवहारिक तौर पर अब फार्मासिस्ट की आवश्यकता भी नहीं रह गई है। इस बीच बसंतराय एवं पथरगामा के अंचल अधिकारियों द्वारा अपने अधिकार क्षेत्र का अतिक्रमण करते हुए दो दवाई दुकानों को फार्मासिस्ट नहीं रहने के कारण सील कर दिया गया था।
जिला केमिस्ट एंड ड्रगिस्ट एसोसिएशन के जिलाध्यक्ष श्री गाडिया के अनुसार, कोरोना महामारी के संकटकालीन दौर में यदि कोई दवा दुकानदार कालाबाजारी करते हैं, तो एसोसिएशन ऐसे दुकानदारों को साथ नहीं देगा। दवा दुकानदारों को संकट की इस घड़ी में मानवता एवं इंसानियत का परिचय निश्चित तौर पर देना चाहिए। लेकिन यदि फार्मासिस्ट के नाम पर दवा दुकानों पर कार्रवाई की जाती है, तो एसोसिएशन इसका विरोध करेगा। फार्मासिस्ट नहीं रहने के कारण कार्यवाही होने पर जिला के 99 फीसदी दवा दुकानें बंद हो जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *