वैश्विक महामारी कोरोना वायरस के बढ़ते प्रसार से बचाव, नियंत्रण तथा रोकथाम के मद्देनजर बैठक संपन्न

: कोरोना संक्रमण से प्रभावित मरीजों, सर्दी/ खांसी/ बुखार के लक्षण वाले मरीजों तथा होम आईसोलेशन में निवासरत कोरोना संक्रमितों को समय पर आवश्यक दवाएं उपलब्ध कराएं- उपायुक्त

गुमला : वैश्विक महामारी कोरोना वायरस के बढ़ते प्रसार से बचाव, नियंत्रण तथा रोकथाम के मद्देनजर उपायुक्त शिशिर कुमार सिन्हा की अध्यक्षता में बैठक का आयोजन आटीडीए भवन स्थित उपायुक्त के कार्यालय वेश्म में किया गया।

बैठक में उपायुक्त ने बाहरी राज्यों से गुमला जिला आने तथा गुमला जिला से बाहरी राज्यों व जिलों में जाने वाले लोगों पर सतत् निगरानी रखने के उद्देश्य से जिले में 08 चेकपोस्ट चिन्हित करते हुए उक्त चेकपोस्ट पर दंडाधिकारियों को प्रतिनियुक्त करने का निर्देश दिया। साथ ही उन्होंने प्रतिनियुक्त किए जाने वाले दंडाधिकारियों द्वारा आने-जाने वाले लोगों पर सतत् निगरानी रखते हुए उनकी संपूर्ण विवरणी पंजी में संधारित करने का भी निर्देश दिया। इसके साथ ही उन्होंने रायडीह प्रखंड स्थित मांझाटोली चेकपोस्ट पर छत्तीसगढ़ से गुमला आने तथा गुमला जिला से छत्तीसगढ़ जाने वाले लोगों तथा भरनो प्रखंड स्थित चेकपोस्ट पर राँची से गुमला जिला आने तथा गुमला जिले से राँची जाने वाले लोगों का अनिवार्य रूप से रैपिड ऐन्टिजेन टेस्ट किट (रैट) के माध्यम से कोविड जाँच सुनिश्चित करने का निर्देश दिया। इस संबंध में उन्होंने सिविल सर्जन को रैट टेस्ट हेतु स्वास्थ्य कर्मियों की टीम को दोनों चेकपोस्ट पर प्रतिनियुक्त करने का निर्देश दिया।

बैठक में उपायुक्त ने गुमला जिलांतर्गत बिना परमिट के चलने वाले ऑटो चालकों तथा वैसे ऑटो चालक जो सामाजिक दूरी के नियमों का उल्लंघन करते हुए सवारी को बैठाते हुए पाए जाते हों, उनपर सख्त कार्रवाई करते हुए उनसे जुर्माना वसूलने का निर्देश जिला परिवहन पदाधिकारी को दिया।

बैठक में पुलिस अधीक्षक ने अनुमंडल पदाधिकारियों को अपने अनुमंडल क्षेत्रांतर्गत पड़ने वाले धार्मिक स्थलों में पत्राचार कर राज्य सरकार द्वारा जारी दिशा-निर्देश के आलोक में आगन्तुकों के प्रवेश पर रोक लगाने का निर्देश दिया।

बैठक में उपायुक्त ने विवाह में वर-वधु के तरफ से कुल मिलाकर मात्र 11 व्यक्ति के ही सम्मिलित होने तथा विवाह कार्यक्रम हेतु नजदीकी पुलिस थाने में 3 दिन पूर्व सूचना देना पर जोर दिया। साथ ही उन्होंने अनुमंडल पदाधिकरियों को अपने-अपने क्षेत्रांतर्गत होने वाले विवाह कार्यक्रम में ध्वनि विस्तारक यंत्र/ डीजे/ पटाखे का उपयोग न हो, इस संबंध में टेन्ट तथा डीजे बजाने वालों को पूर्व में ही नोटिस निर्गत करने का निर्देश दिया।

उपायुक्त ने जिलांतर्गत लगने वाले हाट-बाजारों में भीड़-भाड़ की स्थिति उत्पन्न न हो इसे ध्यान में रखते हुए अनुमंडल पदाधिकारियों को अपने क्षेत्रांतर्गत लगने वाले हाट-बाजारों की सूची तैयार कर उपायुक्त कार्यालय में उपलब्ध कराने तथा हाट-बाजार में चक्र बनवाते हुए सामाजिक दूरी के नियमों का पालन सुनिश्चित करते हुए सब्जी बिक्रेताओं को सब्जी की बिक्री करने का निर्देश दिया।

स्वास्थ्य सुरक्षा सप्ताह के अंतर्गत जिले में व्यवसायिक तथा निजी वाहनों के आवागमन हेतु यात्रियों को ई-पास रखना आवश्यक है। इस संबंध में उपायुक्त ने प्रज्ञा केंद्रों द्वारा निर्गत किए जाने वाले ई-पास के संबंध में सभी प्रज्ञा केंद्र संचालकों के लिए एक उचित दर का निर्धारण करने का निर्देश ई-डिस्ट्रिक्ट मैनेजर को दिया। साथ ही उन्होंने निर्धारित दर पर ही लोगों को ई-पास निर्गत करने का निर्देश दिया।

बैठक में उपायुक्त ने जिले में कोरोना संक्रमण से प्रभावित मरीजों, सर्दी/ खांसी/ बुखार के लक्षण वाले मरीजों तथा होम आईसोलेशन में निवासरत कोरोना संक्रमित मरीजों के समयोचित तथा उच्चतम ईलाज हेतु आवश्यक कोविड रोधी दवाएं उपलब्ध कराने का निर्देश सिविल सर्जन को दिया। ताकि कोरोना संक्रमित मरीजों का आरंभिक उपचार संभव हो सके। उपायुक्त ने सिविल सर्जन से कुल वितरित किए गए मेडिकल किट की जानाकरी प्राप्त की। इसपर सिविल सर्जन ने बताया कि स्वास्थ्य विभाग द्वारा जिले में कुल 3586 मेडिकल किट होम आईसोलेशन में रहने वाले कोरोना संक्रमित मरीजों को उपलब्ध कराया गया है।

गुमला जिलांतर्गत कोविड-19 संक्रमण के लक्षण वाले व्यक्तियों को निरोधात्मक दवा उपलब्ध कराने के संबंध में उपायुक्त ने सिविल सर्जन को सभी 953 गाँवों में सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रवार किए गए सर्वेक्षण के आधार पर सर्दी/ खांसी/ बुखार से पीड़ित व्यक्तियों तक निरोधात्मक दवाएं स्वास्थ्य उपकेंद्रों के माध्यम से अविलंब उपलब्ध कराने का निर्देश दिया। ताकि कोविड-19 अथवा कोविड-19 जैसे लक्षण वाले व्यक्तियों के आरंभिक उपचार के उद्देश्य से निबंधित चिकित्सकों के मार्गदर्शन में ससमय निरोधात्मक दवाओं का सेवन आरंभ किया जा सके। साथ ही उन्होंने कोविड-19 अथवा कोविड-19 जैसे लक्षण वाले व्यक्तियों के लिए 15-18000 मेडिकल किट तैयार करने का निर्देश सिविल सर्जन को दिया। वहीं उपायुक्त ने जिला कोविड अस्पताल सहित सभी सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों एवं सभी स्वास्थ्य उपकेंद्रों में प्राथमिकता के आधार पर कोविड रोधी दवाओं का संधारण करने का निर्देश दिया।

बैठक में अपर समाहर्त्ता ने जिले के चिकित्सकों एवं सामुदायिक स्वास्थ्य पदाधिकारियों (सीएचओ) के द्वारा प्रतिदिन होम आईसोलेशन में रहने वाले कोरोना संक्रमित मरीजों को चिकित्सीय परामर्श प्रदान करने तथा प्रतिदिन कितने मरीजों को चिकित्सीय परामर्श प्रदान किया गया इसे प्रतिवेदित करने का निर्दश सिविल सर्जन को दिया।

उपस्थिति
बैठक में उपायुक्त शिशिर कुमार सिन्हा, पुलिस अधीक्षक हृदीप पी. जनार्दनन, उप विकास आयुक्त संजय बिहारी अंबष्ठ, अपर समाहर्त्ता सुधीर कुमार गुप्ता, सिविल सर्जन डॉ. विजया भेंगरा, सदर अनुमंडल पदाधिकारी रवि आनंद, अनुमंडल पदाधिकार बसिया संजय पी.एम. कुजूर, अनुमंडल पदाधिकारी चैनपुर प्रीतिलता किस्कू, जिला परिवहन पदाधिकारी विजय सिंह बिरूआ, डीपीएम स्वास्थ्य जया रेशमा खाखा, ई-डिस्ट्रिक्ट मैनेजर अमर हुड़मारे व अन्य उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *