लापता मनीष अग्रवाल के घर पहुंचे मंत्री बन्ना गुप्ता कहा एसआईटी जांच कर रही है जल्द ही आएगा परिणाम

कांड्रा से के दुर्गा राव की रिपोर्ट
कांड्रा: सरायकेला-खरसावां जिला अंतर्गत कांड्रा में कपड़ा व्यवसाई देबू अग्रवाल का 29 वर्षीय पुत्र मनीष अग्रवाल लगभग 12 दिनों से लापता है। अब तक किसी प्रकार का सुराग पुलिस को नहीं मिल पाया है। सोमवार सुबह झारखंड सरकार के स्वास्थ्य एवं आपदा मंत्री बन्ना गुप्ता लापता मनीष अग्रवाल के परिजनों से मुलाकात कर ढांढस बंधाया। उन्होंने कहा कि एसआईटी अपना काम कर रही है सभी पहलुओं पर जांच की जा रही है, जल्द ही परिणाम आ जाएगा। काफी लंबे अंतराल के बाद लापता मनीष अग्रवाल का पता नहीं चलने से उनके घर वालों का रो-रो कर बुरा हाल है। ज्ञात हो कि विगत 23 सितंबर शाम 4:00 बजे से मनीष अग्रवाल लापता है। इसको लेकर कांड्रा व्यवसाई वर्ग द्वारा एक दिवसीय दुकान बंद और थाना समक्ष धरना कर चुकी है। प्रमण्डल के तीनों जिलों के चेंबर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री द्वारा सरायकेला खरसावां जिला उपायुक्त को लापता मनीष अग्रवाल के बारे में जानकारी देते हुए उसकी खोज करने की आग्रह की जा चुकी है। इससे पूर्व झारखंड सरकार के पूर्व मुख्यमंत्री मधु कोड़ा,सांसद गीता कोड़ा, पूर्व मंत्री सरयू राय ,भाजपा अनुसूचित जनजाति प्रदेश कोषाध्यक्ष गणेश माहली भी परिजनों से मुलाकात कर सांत्वना दे चुके हैं। लापता मनीषा अग्रवाल के पिता देवू अग्रवाल ने मनीष की खोज के लाने वाले को ₹एक लाख इनाम देने की भी घोषणा कर चुके हैं।