विधायक जेपी भाई पटेल सेल में अपना कमीशन बढ़ाने के लिए लगा रहे हैं बेबुनियाद अनर्गल आरोप, सिद्ध करे नहीं तो करेंगे मान हानि का मुकदमा: बेसरा

रामगढ़ से वली उल्लाह की रिपोर्ट

रामगढ़ : स्थानीय विधायक जेपी भाई पटेल ने कोलियरियों में चल रहे लोकल सेल में पैसा वसूल कर घोटाला करने का बेबुनियाद अनर्गल आरोप लगाए हैं।
लम्बी संघर्ष के बाद सभी परियोजनाओं में विस्थापितों को वैकल्पिक रोजगार देने के उद्देश्य से लोकल सेल चालू किया गया है,सभी परियोजनाओं में विस्थापित, प्रभावित लोग मिलकर संचालन समिति बना कर सेल को संचालित कर रहे हैं।
पूर्व में हमारे आदर्श तत्कालीन विधायक स्व टेकलाल महतो के नेतृत्व में बहेरा डम्प,केरीबन्दा डम्प,और करमा डम्प संचालित होता था। उपरोक्त बातें झामुमो के केंद्रीय महासचिव फागु बेसरा ने कही उन्होंने कहा कि
जेपी बाबू का जन्म भी नहीं हुआ था स्व टेकलाल महतो और मेरे नेतृत्व में कोयलांचल में आन्दोलन कर विस्थापित प्रभावित बेरोजगारों को वैकल्पिक रोजगार देने के लिए कोलियरियों में आन्दोलन कर लोकल सेल हैंड लोडिंग चालू किया गया था।
जब दिशोम गुरू शिबू सोरेन देश के कोयला मंत्री बने तो सभी परियोजनाओं में उत्पादन के 25/प्रतिशत कोयला ई-आक्सन लोकल सेल हैंड लोडिंग के माध्यम से विस्थापितों को वैकल्पिक रोजगार दिया गया है।
केन्द्र सरकार एवं कोल इंडिया प्रबंधन के नीतियों के कारण पेलोडर लोडिंग चालू की गई है। जिसमें मजदूरों के हक को सुरक्षित किया गया है।
सभी परियोजनाओं में विस्थापितों प्रभावितों को मिला कर संचालन समिति बना कर सेल को संचालित कर रहे हैं। जिसमें मुन्शी, सदस्य एवं मजदूरों का दंगल ग्रुप बना हुआ है।
करमा परियोजना में स्वयं विधायक जेपी भाई पटेल के निगरानी में सेल चलता है।
केदला, झारखंड और लईयो परियोजना में खीरू महतो पूर्व विधायक, शिवलाल महतो के निगरानी में सेल चलता।
परेज में योधेश्वर सिंह भोक्ता, तापिन नार्थ में शिवलाल महतो, शंकर सिंह और स्वयं विधायक जेपी भाई पटेल है।
पुण्डी परियोजना में मेरे निगरानी में चलता था जो बर्षों से बंद है।
विधायक जेपी भाई पटेल और शिवलाल महतो तापिन साऊथ परियोजना में मजदूरों का मोटा रकम डाकर लिए है। लेकिन वहां के विस्थापित जनता अब जाग चुकी है। दोनों सार बहनोई का लूट का खेला अब नहीं चलने दे रहा है।
तो अनाप शनाप बक रहा है।
विस्थापितों के अधिकार के लिए हम संघर्ष कर रहे हैं और लोगों को जगा दिए हैं तो लूट मचाने वाले शौर मचाए हुए है। विधायक जेपी भाई पटेल अपने कमीशन को बढ़ाने के लिए और अपने बहनोई शिवलाल महतो की लूट को बचाने के लिए इस तरह का बेबुनियाद आरोप लगा रहे हैं।
मेरे पास विधायक की कई सूचना भी है अपना रेट बढ़ाने के लिए सीसीएल प्रबंधन और संचालन समिति के लोगों को धमकाया गया है।
चुंकि मैं पूरे झारखंड के विस्थापितों के सवाल को लेकर आंदोलन कर रहा हूं पहले इनका सहयोग, समर्थन भी मिला है, परंतु दल बदलू के बाद लूटने वालों के पक्ष में खड़े हो गए हैं।
मैं विधायक को चुनौति देता हूं, लगाए गए आरोप को सिद्ध करे और नहीं तो विधायक पद से इस्तीफा दे दें।
तापिन साऊथ परियोजना में मजदूरों का लूटा का पैसा हाजम नहीं करने देंगे।