विधायक के प्रयास से तमिलनाडु में फंसे मजदूरी करने गए 4 युवकों को सकुशल रिहा कराया

जामताड़ा से राजकिशोर सिंह की रिपोर्ट
जामताड़ा : नारायणपुर प्रखंड के चार युवक सफीक अंसारी, मुस्तकीम अंसारी, इकराम, गुलाम अहमद रजा शनिवार को सकुशल तमिलनाडु से वापस लौटे. सभी वहां मजदूरी करने गए थे और कंपनी के मालिक ने शोषण करना शुरू कर दिया था. जामताड़ा विधायक डॉ इरफान अंसारी के प्रयास से चारों को सकुशल वापस लाया गया. चारों युवक और उनके अभिभावक विधायक आवास पहुंचकर उनका आभार जताया. बता दें कि पिछले 2 महीनें से यह लोग तमिलनाडु के एक कंपनी में फंसे हुए थे और इन्हें घर आने नहीं दिया जा रहा था. इन्हें 8 घंटे का काम बोलकर 16 घंटे काम कराया जा रहा था और खाना भी सही ढंग से नहीं दिया जा रहा था. साथ हीं साथ इन लोगों को अपने घर पर फोन भी करने की इजाजत नहीं थी. काफी मुश्किल से इन लोगों ने अपने घर में संपर्क किया और अपनी आपबीती बताई. चारों के माता-पिता विधायक इरफान अंसारी से मिलकर मदद की गुहार लगाई थी. शनिवार को प्रेस कांफ्रेंस कर विधायक ने मामले का खुलासा किया.

विधायक ने तमिलनाडु चीफ सेक्रेटरी और डीजीपी से किया था संपर्क

विधायक इरफान ने कहा कि जानकारी मिलते हीं उन्होंने तमिलनाडु के चीफ सेक्रेट्री एवं डीजीपी से वार्ता किया और पूरे मामले से अवगत कराया. कहा कि एक साजिश के तहत दलाल ने हमारे बच्चों को बहला-फुसलाकर आपके राज्य लेकर चला गया है और उनके साथ जुल्म किया जा रहा है. इन लोगों को किसी भी हाल में वहां से रिहा कराया जाए. डीजीपी ने मामले को सतर्कता से लेते हुए पुलिस की टीम को कंपनी भेजा और सभी को सकुशल वहां से निकाल लिया. मौके से हीं पुलिस अधिकारियों ने चारों को विधायक से बात कराया और फिर जाकर वहां से ट्रेन के माध्यम से जामताड़ा रवाना किया. चारों के अभिभावकों ने विधायक प्रति आभार जताया.