18 से 44 वर्ष तक के कोरोना टीकाकरण शिविर का रामगढ़ कॉलेज में विधायक ममता देवी ने किया शुभारंभ

■ कोरोना का टीका पूरी तरह से सुरक्षित एवं दोनों दोज पूरे होने के उपरांत कोरोना होने का खतरा ना के बराबर।
रामगढ़: राज्य सरकार के निर्देशानुसार शुक्रवार से रामगढ़ जिले में 18 से 44 वर्ष तक के व्यक्तियों के लिए कोरोना टीकाकरण की प्रक्रिया शुरू की गई है। इस दौरान विधायक रामगढ़ ममता देवी ने स्वयं रामगढ़ कॉलेज रामगढ़ में 18 से 44 वर्ष तक के व्यक्तियों के लिए बनाए गए कोरोना टीकाकरण केंद्र पर पहुंचकर टीकाकरण अभियान का शुभारंभ किया।

मौके पर उन्होंने सभी व्यक्तियों से कहा कि कोरोना संक्रमण के चेन को तोड़ने के लिए यह बहुत जरूरी है कि सभी योग्य व्यक्ति अनिवार्य रूप से कोरोना के टीके का दोनों दोज ले, उन्होंने कहा कि कोरोना का टीका पूरी तरह से सुरक्षित है और टीके के दोनों डोज पूरे होने के उपरांत कोरोना होने का खतरा ना के बराबर है और अगर किसी कारण से फिर भी कोरोना हो जाता है तो उसका प्रभाव अत्यंत कम अथवा नहीं होता है।

इस दौरान सिविल सर्जन डॉक्टर गीता सिन्हा मानकी ने केंद्र पर आए सभी व्यक्तियों से कहा कि कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए मास्क और सामाजिक दूरी तो जरूरी है ही लेकिन इसके साथ ही कोरोना का टीका लेना बहुत आवश्यक है, इसलिए आप सभी खुद भी टीका ले तथा अन्य लोगों को भी टीका लेने के प्रति जागरूक करें।

*टीकाकरण शिविर के दौरान प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी रामगढ़ डॉ ठाकुर मृत्युंजय कुमार सिंह् ममता देवी, सिविल सर्जन डॉ गीता सिन्हा मानकी तथा डीआरसीएचओ डॉक्टर महालक्ष्मी प्रसाद का स्वागत किया। इसके साथ ही उन्होंने टीका लेने आए सभी व्यक्तियों को टीकाकरण के महत्व एवं इससे जुड़ी भ्रांतियों के प्रति जागरूक किया।

रामगढ़ कॉलेज के साथ ही सोमवार को विधायक रामगढ़ ममता देवी ने सुभाष चौक रामगढ़ के समीप छावनी बालिका विद्यालय में बनाए गए कोरोना टीकाकरण केंद्र का भी निरीक्षण कर वहां 18 से 44 वर्ष तक के लोगों को दिए जा रहे कोरोना के टीके की जानकारी ली।

इस दौरान सिविल सर्जन डॉ गीता सिन्हा मानकी, डीआरसीएचओ डॉक्टर महालक्ष्मी प्रसाद, प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी रामगढ़ डॉ ठाकुर मृत्युन्जय कुमार सिंह, सहायक जिला जनसंपर्क पदाधिकारी शशांक शेखर मिश्रा, जिला जनसंपर्क कार्यालय से नीतीश कुमार पासवान, कांग्रेस प्रदेश प्रवक्ता मुकेश यादव, मुन्ना पासवान सहित अन्य उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *