मोदी सरकार अपने ही जमीन पर किसानों को मजदूर बनाने पर तुली है : विजय सिंह 

गुमला:  झारखंड नवनिर्माण दल किसान मंच सहित सर्वदलीय किसान संगठनों द्वारा किसान विरोधी कृषि बिल की वापसी के लिए दिल्ली में चल रहे किसान आंदोलन के समर्थन में गुमला जिला मुख्यालय के कचहरी स्थित हड़ताली वृक्ष के पास भारी बारिश के बावजूद सैकड़ों किसानों ने धरना आयोजित कर महामहिम राष्ट्रपति , भारत को उपायुक्त के माध्यम से मांग – पत्र भेजी गई । विदित हो कि अखिल भारत क्रांतिकारी किसान सभा , जन संग्राम मोर्चा , झारखंड क्रांति मंच , एससी एसटी ओबीसी एवं माइनॉरिटी एकता मंच , फूल झारखंड क्रांति दल तथा झारखंड नवनिर्माण किसान मंच द्वारा दिल्ली के किसान आंदोलन के समर्थन में प्रदेश स्तरीय कार्यक्रम चलाई जा रही है , जिसके तहत गुमला में धरना कार्यक्रम आयोजित की गई । किसान संगठनों द्वारा धरना कार्यक्रम में मुख्य रूप से उपस्थित झारखंड नवनिर्माण दल के केंद्रीय संयोजक विजय सिंह ने कहा कि मोदी सरकार अपने ही जमीन पर किसानों को मजदूर बनाने में लगी है । यही कारण है कि 9 महीनों से आंदोलनरत किसानों की मांगों को अनसुनी की जा रही है। सैकड़ों किसान की शहादत हो चुकी है , फिर भी सरकार बहुमत के नशे में चूर किसानों की बात सुनने के बजाय मनोबल तोड़ने का हथकंडा अपनाने से बाज नहीं आ रही है , जो गरीब किसान विरोधी रवैया को दर्शाती है । श्री सिंह ने महामहिम राष्ट्रपति को किसानों की मांगों पर हस्तक्षेप कर तीनों किसान विरोधी बिल वापस कराने की मांग की । श्री सिंह ने यह भी कहा है कि मांग नहीं माने जाने की स्थिति में 27 सितंबर 2021 को होने वाली किसान संगठनों का भारत बंद को सफल बनाने के लिए गुमला से लेकर रांची तक सड़क पर उतरने की भी बात कही । धरना कार्यक्रम में धर्मपाल उरांव , ललन साहू , शंकर उरांव , शिवप्रसाद साहू , बिहारी कुमार यादव , बिगन सिंह , जितेंद्र यादव , रूपु उरांव , बालेश्वर उराँव , भूषण सिंह , फबयानुस सारस , कृष्णा सिंह , कुंवर महतो , पुष्पा पन्ना , मालती देवी , रजनी देवी , बिरजिनिया मिंज , राधा देवी , पूर्णिमा कुमारी सहित सैकड़ों की संख्या में लोग उपस्थित थे ।