किसान विरोधी तीनों काला कानून वापस ले मोदी सरकार : किसान सभा 

रामगढ़: कुज्जू नया मोड़ चौक में मंगलवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र दास मोदी का पुतला जलाकर किसान विरोधी तीनों काला कानून वापस लेने , बढ़ती हुई महंगाई पर रोक लगाने की मांग की गई ।पुतला दहन कार्यक्रम में केंद्र सरकार के विरोध में गगनभेदी नारे लगाए गए। सभा में मुख्य रूप से भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी झारखंड राज्य के सहायक सचिव सह अखिल भारतीय किसान सभा के महासचिव महेंद्र पाठक, आदिवासी महासभा के जय वीर हंसदा, किसान संग्राम समिति के राजेंद्र गोप ,कयुम खान मौजूद थे।
संबोधित करते हुए अखिल भारतीय किसान सभा के महासचिव महेंद्र पाठक ने कहा कि केंद्र की मोदी सरकार के जनविरोधी नीतियों के कारण देश में लगातार महंगाई बढ़ रही। है ₹70 के पेट्रोल में 70 साल लगे लेकिन 7 साल में एक सौ से ऊपर पेट्रोल और डीजल बिक रहा है तो दूसरी तरफ सरसों का तेल साल भर पहले ₹65 था जो आज ₹200 से ऊपर बीक रहा है , इस इससे अनुमान लगाया जा सकता है कि देश में किस कदर महंगाई बढ़ रही है । देश के अडानी और अंबानी के लगातार फायदा हो रहा है और देश में किसान छात्र नौजवान आत्महत्या करने के लिए मजबूर हो रहे हैं । बेतहाशा बढ़ती हुई महंगाई के कारण आम जनता का जीना दूभर हो चुका है, तो दूसरी तरफ 11 महीने से लाखों किसान दिल्ली के बॉर्डर पर किसान विरोधी काला कानून के विरोध में धरना पर बैठे हुए हैं और पूरे देश के किसान आंदोलित हैं । लेकिन मोदी सरकार की हठधर्मिता के कारण किसानों की नहीं सुनी जा रही है । बल्कि कई तरह के हथकंडे को अपनाकर किसानों की बदनाम करने की साजिश रची जा रही है। पूरे देश में किसान आंदोलित हैं और उनके समर्थन में झारखंड के कोने कोने के किसान लगातार दिल्ली किसान आंदोलन के समर्थन में आंदोलन चला रहे हैं । पुतला दहन कार्यक्रम में भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी के झारखंड राज्य सहायक सचिव महेंद्र पाठक, अखिल भारतीय किसान सभा के मेवालाल प्रसाद, किसान संग्राम समिति के राजेंद्र गोप ,आदिवासी महासभा के जय वीर हंसदा, नेमन यादव दिनेश तुरी कॉलेसर भुईया, अमित यादव, शंभू सिंह , हंस दा समाजसेवी कयूम खान ,साबिर अंसारी, तेज नारायण महतो ,दशरथ राम, कयूम मलिक, बबलू उराव कुलेश्वर मेहता ,अमित यादव ,अमन पाठक आदि उपस्थित थे।