सास- ससुर ने हाथ पैर बांधा, पति ने आग लगा दिया

– पति गिरफ्तार, सास ससुर फरार
– दहेज की बलिवेदी पर चढ़ गई एक और महिला

गोड्डा से अभय पलिवार की रिपोर्ट
गोड्डा : ससुराल वालों द्वारा शरीर में आग लगा दिए जाने के कारण करीब एक हफ्ता तक जिंदगी और मौत के बीच संघर्ष करने वाली सोनी देवी जिंदगी की जंग हार गई। पटना के पीएमसीएच में इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई। शव का पोस्टमार्टम शनिवार को यहां के सदर अस्पताल में किया गया। मृतका की मां रुकमणी देवी द्वारा दर्ज कराई गई प्राथमिकी में बेटी के पति एवं सास-, ससुर को नामजद अभियुक्त बनाया गया है। मुफस्सिल थाना की पुलिस ने त्वरित कार्रवाई करते हुए मृतिका के पति राजेश पासवान को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया।
प्राथमिकी के अनुसार, मामला दहेज हत्या से संबंधित है। मृतका की मां ने आरोप लगाया है कि ससुराल वाले दहेज के लिए उसकी बेटी को प्रताड़ित करते थे। एक सप्ताह पूर्व 16 सितंबर को ससुराल में सास – ससुर ने उसकी बेटी का हाथ बांध दिया और पति ने शरीर में आग लगा दिया। ग्रामीणों को बताया गया कि गैस सिलेंडर फटने से सोनी देवी जल गई है।
गंभीर रूप से जली अवस्था में सोनी देवी को पहले यहां के सदर अस्पताल में इलाज के लिए लाया गया। लेकिन उसकी स्थिति की गंभीरता को देखते हुए यहां से भागलपुर रेफर कर दिया गया। भागलपुर मेडिकल कॉलेज में भी चिकित्सकों ने इलाज के लिए पटना मेडिकल कॉलेज भेज दिया। पटना में इलाज के दौरान शुक्रवार को उसने दम तोड़ दिया।
मृतका सोनी देवी का मायका सदर प्रखंड के दुबराजपुर गांव में था। करीब 10 वर्ष पूर्व उसकी शादी मुफस्सिल थाना अंतर्गत कुसमरा गांव में हुई थी। मृतका के परिजनों का आरोप है कि शादी के बाद से ही ससुराल वाले सोनी को दहेज के लिए प्रताड़ित कर रहे थे। इस मामले में मृतका की मां के बयान पर उसके पति राजेश पासवान, ससुर रंजन पासवान एवं सास बसुमति देवी को नामजद अभियुक्त बनाया गया है।