चलंत लोक अदालत सह विधिक जागरूकता शिविर का चंदवारा में किया गया आयोजन

चंदवारा : झारखण्ड राज्य विधिक सेवा प्राधिकार, राँची के निर्देश के आलोक में, जिला विधिक सेवा प्राधिकार कोडरमा के तत्वावधान में चलन्त लोक अदालत सह क़ानूनी जागरूकता का आयोजन किया गयाl कार्यक्रम की अध्यक्षता चंदवारा बीडीओ संजय कुमार यादव ने किया उन्होंने अपने संबोधन में कहा कि शिक्षा के द्वारा ही व्यक्ति अपने व्यक्तित्व का सर्वांगीण विकास कर सकता है l प्राधिकार समाज के अनाथ, गरीब, बेसहारा एवं जरूरतमंद लोगों को नि:शुल्क विधिक सहायता देने के प्रति कृत संकल्पित है l वहीं केंद्र सरकार एवं राज्य सरकार द्वारा चलाये जा रहे कल्याणकारी योजनाओ को मूर्त रूप प्रदान करने में प्राधिकार की भूमिका अत्यन्त ही सराहनीय है l इस चलन्त लोक अदालत का मुख्य उद्देश्य लोगों को जागरूक करना है ताकि समाज के अंतिम व्यक्ति तक न्याय की किरण पहुँच सके l उन्होंने लोगो से दूसरों को भी जागरूक करने की अपील की।वहीं प्राधिकार के रणजीत कुमार सिंह ने कहा कि बाल विवाह कानूनन जुर्म है और इसके लिए कठोर दण्ड के प्रावधान है lजैसे दहेज प्रतिषेध अधिनियम, महिलाओं से सम्बंधित क़ानूनी प्रावधान एवं बच्चों के अधिकारों से सम्बंधित कई महत्वपूर्ण कानूनों की जानकारी दी l श्री सिंह ने कहा कि लोग आपस में छोटी-छोटी बातों को लेकर झगड़ जाते है जिसके कारण वे अपने समय एवं पैसे को बर्बाद करते है, लोगों को इनसे बचने की जरुरत है l शिविर को संबोधित करते हुए प्रखंड आपूर्ति पदाधिकारी कुंदन कुमार सिन्हा ने कहा कि जिला विधिक सेवा प्राधिकार के द्वारा लोगों को हर प्रकार की क़ानूनी सहायता उपलब्ध कराया जाता है l साथ ही वक्ताओ ने कोरोना से बचाव के लिए टीकाकरण के महत्व पर विस्तार से चर्चा करते हुए कहा कि टीका पूरी तरह सुरक्षित है