पुलिस के साथ मुठभेड़ में 15 लाख का इनामी नक्सली बुद्धेश्वर ढेर

गुमला से बसंत गुप्ता
गुमला : गुमला जिले में पुलिस की टीम ने बड़ी कामयाबी हासिल करते हुए भाकपा माओवादियों के रीजनल कमांडर बुद्धेश्वर उरांव को इनकाउंटर में मार गिराया. पिछले एक महीने से पंद्रह लाख के इनामी बुद्धेश्वर उरांव के दस्ते को ही टारगेट कर सीआरपीएफ और कोबरा बटालियन ने अभियान चला रखा था. आखिरकार गुरुवार को पुलिस को बड़ी सफलता हाथ लगा. पुलिस को सूचना मिली थी कि गुमला के कुरूमगढ़ थाना क्षेत्र में माओवादी बुद्धेश्वर का दस्ता जमा है. उग्रवादियों के द्वारा बड़ी वारदात को अंजाम देने की योजना के बाद सुरक्षाबलों के द्वारा इलाके में अभियान चलाया जा रहा था. इसी बीच पुलिस और नक्सली आमने-सामने आ गए जिसके बाद दोनों तरफ से जबरदस्त गोलीबारी हुई. गोलीबारी में कई नक्सलियों को गोली लगी है. पुलिस को अपने ऊपर भारी पड़ता देख नक्सली जंगल की तरफ भाग खड़े हुए. सर्च अभियान चलाने के दौरान पुलिस को 15 लाख के इनामी भाकपा माओवादियों के रीजनल कमांडर बुद्धेश्वर उरांव का शव बरामद हुआ. बुद्धेश्वर के पास से पुलिस ने एके 47 रायफल भी बरामद किया है. जिस इलाके में पुलिस और नक्सलियों के बीच मुठभेड़ हुई है वहां नक्सलियों के एक दस्ता के मौजूद होने की सूचना पुलिस को पिछले 4 दिनों से थी. जिसके बाद लगातार नक्सलियों की तलाश की जा रही थी, लेकिन लैंडमाइंस के विस्फोट की वजह से 2 दिन पुलिस का अभियान प्रभावित हो गया था, लेकिन गुरुवार को आखिरकार पुलिस को सफलता हाथ लग गई. गत मंगवार को भी गुमला के इसी इलाके में पुलिस नक्सलियों के होने की सूचना पर सर्च ऑपरेशन चला रही थी. इसी दौरा हुए आईईडी ब्लास्ट में डॉक स्कॉयड का डॉग द्रोण शहीद हो गया था. ब्लास्ट में एक जवान विश्वजीत भी घायल हो गया था. जिसे एयरलिफ्ट कर रांची लाया गया था,