कोविड टेस्टिंग एवं वैक्सीनेशन का समीक्षा करते उपायुक्त द्वारा दिया गया आवश्यक निर्देश

— डोर टू डोर सर्वे कर सभी सुपात्र को टिका से आच्छादित करने का निर्देश
सरायकेला। समाहरणालय स्थित सभागार में बुधवार को उपायुक्त अरवा राजकमल द्वारा कोविड-19 वन के रोकथाम हेतु किए जा रहे कार्यों का समीक्षा किया गया। जिले में कोरोना सैंपल टेस्टिंग एवं टीकाकरण कार्यों का प्रखंडवार समीक्षा करते हुए 18 वर्ष या उससे अधिक आयु के शत-प्रतिशत लाभार्थियों को कोविड-19 टीका से आच्छादित करने हेतु उन्होंने आवश्यक दिशा निर्देश दिए। बैठक के दौरान उपायुक्त द्वारा जिले के सभी प्रखंड विकास पदाधिकारी एवं एमओआईसी को टीकाकरण कार्य में प्रगति लाने हेतु योजनाबद्ध तरीके से कार्य करने के निर्देश दिए गए। उन्होंने कहा कोरोना संक्रमण से बचने का एकमात्र उपाय कोविड टीका है इसलिए हर पंचायत, हर गांव और हर घर-घर में सर्वे कर कोविड टीका से वंचित लाभार्थी को टीका से आच्छादित करना सुनिश्चित करें। उपायुक्त ने कहा सरकार एवं जिला प्रशासन का मुख्य उद्देश्य आम जनों को कोरोना संक्रमण से बचाव हेतु योग्य सभी सुपात्र लाभुकों को कोविड टीका से आच्छादित करना है। कोरोना संक्रमण के नियंत्रण हेतु गठित किए गए विभिन्न कोषांग के वरीय एवं नोडल पदाधिकारी तथा सभी प्रखंड विकास पदाधिकारी अंचलाधिकारी, एमओआईसी के साथ टीकाकरण एवं टेस्टिंग कार्य में आ रहे समस्याओं के समाधान पर वार्ता करते हुए, सुझाव के आदान प्रदान करते हुए जिले में कोविड टीकाकरण एवं सैंपल टेस्टिंग कार्य में प्रगति लाने हेतु योजना बनाई गई।
बैठक में उप विकास आयुक्त प्रवीण कुमार गागराई, अपर उपायुक्त सुबोध कुमार, आईटीडीए निदेशक संदीप कुमार दुराईबुरु, अनुमंडल पदाधिकारी सरायकेला एवं चांडिल, सभी प्रखंड विकास पदाधिकारी सहित सम्बंधित अन्य पदाधिकारी उपस्थित रहे।