ग्राम सभा को सशक्त करने की जरूरत है:एम्बस

रामगोपाल जेना
चक्रधरपूर: ऑल इंडिया मूलनिवासी बहुजन समाज सेंट्रल संघ(एम्बस) ने वर्ल्ड इंडीजीनस डे का आयोजन गुड़ासाई, फुटबॉल मैदान में किया। इस अवसर पर यहां के इंडीजीनस ने कई सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन कर सामाजिक एकता एवं अपनी संस्कृति का जीवंत उदाहरण पेश किया। संगठन के एसोसिएट ऑर्गेनाइजर द्वारा यहां के इंडीजीनस पीपल्स को उनके हक व अधिकार एवं आगे की रणनीति से अवगत कराया गया। कहा गया कि हम इंडीजीनस हैं क्योंकि हम अपने नस्ल को शुद्ध रखने में कामयाब है। यहां के स्थानीय लोगों ने चक्रधरपुर नगर परिषद द्वारा विभिन्न राजस्व ग्रामों को शामिल करने एवं पांचवी अनुसूची क्षेत्र में केंद्र एवं राज्य सरकार द्वारा जमीन अधिग्रहण कर विभिन्न निजी एवं सरकारी योजनाओं का बिना ग्राम सभा के सहमति के हावी होने का आरोप लगाते हुए ग्राम सभा को मजबूत करने का प्रण लिया।कार्यक्रम का उद्देश्य शक्ति प्रदर्शन,जागरूक करना एवं इंडीजीनस पीपल्स को उनके संवैधानिक अधिकार से अवगत करवाना था। एम्बस ने स्वीकारा कि अपने अधिकारों के लिए आंदोलन की रूपरेखा बदलनी होगी।अब हमारी लड़ाई तीर-धनुष से नहीं बल्कि कागज- कलम से लड़ी जाएगी और इसके लिए एम्बस झारखंड के विभिन्न प्रखंडों के हर पंचायत में जाकर लोगों को उनके संवैधानिक अधिकार एवं सूचना के अधिकार अधिनियम,2005 के तहत कैसे विभिन्न सरकारी विभागों से जानकारी हासिल करनी है,इसके तरीके से अवगत कराएगी। इस कार्यक्रम को सफल बनाने में मुख्य रूप से एसोसिएट ऑर्गनाइजर सुमित महतो ,बासिल हेम्ब्रम, दीनू पाड़िया , लाल माझी , लिलुआ गागराई , गोरा गागराई , प्रधान जामुदा ,राजू जामुदा (गाँव के देउरी) एंथोनी बोदरा , दिलीप माहली , सन्नी गागराई और सैकड़ों की संख्या में ग्रामीण उपस्थित थे।