सॉलि़ड वेस्ट मैनेजमेंट स्थल की जांच को पहुंचे एनजीटी की टीम

 सामाजिक संस्था के आरती सिन्हा ने कोलकाता एनजीटी में मामला दर्ज कराया है

जामताड़ा से राज किशोर सिंह की रिपोर्ट
मिहिजाम : सामाजिक कार्यकर्ता सचिव संस्था लीगल राइट्स एंड सोशल डेवलपमेंट फाउंडेशन की ओर से एनजीटी कोलकाता में षिकायत दर्ज कराने के उपरांत मिहिजाम नगर परिषद स्थित राजबाड़ी में प्रस्तावित सॉलि़ड वेस्ट मैनेजमेंट को जांच करने रांची एवं कोलकाता से वैज्ञानिक आए थे। मिहिजाम में बन रहे सॉलि़ड वेस्ट मैनेजमेंट स्थल की जांच के लिए चार सदस्यों का टीम बुधवार को मिहिजाम पहुंचा। जिसका नेतृत्व राजीव रंजन वैज्ञानिक ; ई द्ध के द्वारा किया गया। जिस वाहन से पदाधिकारी आए उस पर मिनिस्ट्री ऑफ इन्वायरमेंट फॉरेस्ट एंड क्लाइमेट चेंज रीजनल ऑफिस रांची भारत सरकार अंकित था। सॉलि़ड वेस्ट मैनेजमेंट स्थल का निरीक्षण बहुत ही बारीकी तरीके से किया गया। इस दौरान निरीक्षण करने पहुंचे अधिकारियों ने कुल कितने क्षेत्र में सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट षड्यंत्र लगाया जा रहा है। जिसकी भूमि के बारे में जानकारी हासिल की गई। जहां उपस्थित मिहिजाम नगर परिषद के कार्यपालक पदाधिकारी ने बताया राजबाड़ी मोहल्ले के इस भाग में 4.85 एकड़ जमीन चिंहित किया गया है। जहां पर सॉलि़ड वेस्ट मैनेजमेंट संयंत्र लगाया जाना है।

नमूने संग्रह कर साथ ले गये

राजबड़ी मोहल्ले के जिस हिस्से में सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट संयंत्र लगाए जाने का प्रस्ताव है। उस स्थान से मिट्टी पानी एवं अन्य चीजों का नमूना डब्बा में बंद करके अपने साथ ले गए। जांच टीम के द्वारा मिहिजाम होम्योपैथिक अस्पताल के कुएं का पानी का भी लिया नमूना भी अपने साथ ले गया।

भौगोलिक स्थिति का भी लिया जाएगा जायजा

इस दौरान चार सदस्यों की टीम के द्वारा स्थल की भौगोलिक जांच भी किया गया एवं एक हिस्से की लंबाई चौड़ाई का भी मापी किया।

क्या है मामला

बताते चलें कि मिहिजाम के एक एनजीओ के द्वारा राजबाड़ी मोहल्ले में बन रहे सॉलि़ड वेस्ट मैनेजमेंट संयंत्र को किसी दूसरे स्थान पर ले जाने की शिकायत नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल ;एनजीटी) से किया गया था। जिसकी जांच के लिए चार सदस्यों का दल बुधवार को मिहिजाम पहुंचा था।

क्या बोले जांच अधिकारी

स्थल जांच करने के उपरांत जांच कर रहे अधिकारी राजीव रंजन ने पत्रकारों को बताया कि जिस स्थल पर सॉलि़ड वेस्ट मैनेजमेंट प्लांट लगाया जाना है। वहां पर कितना कचरा फेंका जा चुका है। कितना वॉल्यूम फेका जाना है एवं साइड सही है कि नहीं के अलावे कई और बिंदुओं की जांच की गई है। जांच की रिपोर्ट संबंधित विभाग को भेजा जाएगा।

यह भी थे उपस्थित

इस मौके पर जामताड़ा एसडीओ संजय पाण्डेय अंचलाधिकारी जामताड़ा सर्किल इंस्पेक्टर जामताड़ा मिहिजाम नगर परिषद अध्यक्ष कमल गुप्ता उपाध्यक्ष शांति देवी सिटी मैनेजर राजेश कुमार वार्ड पार्षद के अलावे शिकायतकर्ता आरती सिन्हा भी मौजूद थे।
मालुम हो कि कुछ महीने पूर्व समाजिक संस्था की सचिव आरती सिन्हा के द्वारा एनजीटी में केस दायर की गई थी। जिसके उपरांत कोर्ट के आदेश के बाद एनजीटी पदाधिकारियों का आगमन मिहिजाम नगर परिषद में प्रस्तावित सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट को लेकर हुई।