निजी स्कूल प्रबंधन अभिभावकों पर दबाव डाल रहे हैं फीस जमा करने के लिए, मुख्यमंत्री हस्तक्षेप करें : सुधीर 

रामगोपाल जेना
जमशेदपुर: कोरोना के कारण लॉक डाउन के बाद मध्यमवर्गीय परिवार और गरीब तबके के लोगों की आर्थिक स्थिति आप ही खराब हो गई है। बच्चों के अभिभावक स्कूल फीस जमा करने में असमर्थ हैं। उन्होंने पहले भी स्कूल प्रबंधन से आग्रह किया था कि 3 महीने का फीस माफ कर दे। इन दिनों निजी स्कूल प्रबंधन बच्चों के अभिभावकों पर दबाव डाल रहे हैं कि बैंक के माध्यम से ऑनलाइन फीस जमा कर दें और किताब कॉपी खरीदने के लिए भी दबाव डाल रहे हैं। बच्चों के अभिभावक के मोबाइल पर मैसेज भेज कर बार-बार चेतावनी दी जा रही है। उन्होंने मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन से इस मामले में संज्ञान लेकर हस्तक्षेप करने की मांग की है। उन्होंने मुख्यमंत्री से अनुरोध किया है कि जो स्कूल प्रबंधन दबाव डाल रहे हैं और चेतावनी दे रहे हैं उन पर कठोर कार्रवाई की जाए। जमशेदपुर कोर्ट के अधिवक्ता सुधीर कुमार पप्पू ने एक बयान जारी कर मुख्यमंत्री से उक्त मांग की है।