बालू तस्करी मामला के 48 घंटे बाद भी नहीं हुई कार्रवाई

पलामू से सुधीर कुमार गुप्ता की रिपोर्ट

मेदिनीनगर:पलामू जिले में बालू तस्करी का बड़ा मामला पकड़ा गया है, लेकिन 48 घंटे बीत जाने के बाद भी कार्रवाई नहीं की जा सकी है. हालांकि, प्रशासनिक जांच में कई खामियां मिली हैं.चैनपुर थाना क्षेत्र के बोकेया में बालू तस्करी के खिलाफ सदर एसडीएम ने छापेमारी की, जिसमें 50 से अधिक ट्रक और हाईवा जब्त किया गया है. जब्त हाईवा और ट्रक उत्तर प्रदेश के हैं. गड़बड़ी मिलने के बाद खनन विभाग के अधिकारी कैमरे पर कुछ बोलने को तैयार नहीं हैं।प्रशासनिक कार्रवाई के बाद बालू के स्टॉक की जांच शुरू की गई. इस जांच में कई बड़े खुलासे हुए हैं. बालू के स्टॉक के लिए बोकेया में एक एकड़ के प्लॉट पर लाइसेंस जारी किया गया था, लेकिन बालू का स्टॉक कई एकड़ में फैला हुआ है. आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि बालू का स्टॉक दो पंचायतों में जमा है. 21 हजार सीएफटी बालू का स्टॉक रखना था, लेकिन 50 हजार सीएफटी बालू के स्टॉक मिला है।बालू तस्करी मामले में चैनपुर अंचल अधिकारी संजय कुमार बाकला ने जांच रिपोर्ट तैयार की है, जो सदर एसडीएम और जिला खनन पदाधिकारी को सौंप दी गई है. जांच रिपोर्ट की दोनों अधिकारी अध्ययन कर रहे हैं. इस मामले में पुलिस ने भी कई बिंदुओं पर रिपोर्ट मांगी है. रिपोर्ट मिलने के बाद प्राथमिकी दर्ज की जाएगी।