पिता के बिना कोई भी परिवार पूरा नहीं होता है

मुकुंद साव

चौपारण(हजारीबाग): पिता पारिवारिक जीवन के महत्वपूर्ण व्यक्ति है,परिवार के संचालन में उनका अतुलनीय योगदान होता है,माता बच्चे को जन्म देती है पालन पोषण करती है परन्तु पिता पूरे परिवार का ड्राइवर होते है,अपना दुख सह लेंगे परंतु बाल बच्चे को दुख नहीं देते है,अपने भूखे रह जाएंगे पर बच्चे को भूखे न रहने देंगे,उक्त बाते पिता दिवस के अवसर पर पिता समूह को संबोधित करते हुवे हजारीबाग के सांसद जयंत सिन्हा के चौपारण सांसद प्रतिनिधि मुकुंद साव ने कहा,उन्होंने कहा कि पिता सारा दुख सहन करते है चुपचाप बाल बच्चे का अत्याचार देखते रह जाते है परन्तु कुछ बोलते नहीं है चुकी बच्चो से उन्हें इतना प्यार है ,पिता परिवार के नायक होते है पिता बिना परिवार का कोई ओचित्य नहीं है,इसलिए प्रतिवर्ष जून महीना का तीसरा रविवार को पिता के सम्मान मेे भारत सरकार ने पिता दिवस मनाने का निर्णय लिया है,इस अवसर पर तमाम पिताओं को सांसद प्रतिनिधि मुकुंद साव हजारीबाग के सांसद सह लोक सभा में वित समिति के सभापति की ओर से हार्दिक शुभकामनाएं दी है, कार्यक्रम में अशोक गुप्ता,रामसेवक दांगी,छोटन साव,रंजीत यादव,केशरी नायक,सियाराम कुमार भारती,मिथुन कुमार शर्मा,कृष्णा कुमार साव,सुखदेव यादव,बालेश्वर साव,राजेश कुमार सतीश कुमार सहित कई पिता उपस्थित थे,