जामुनटाड़ बायोजेनेटिक मेडिकल वेस्टेज फैक्ट्री की ग्रामीणों की शिकायत पर नप ईओ और सीओ ने किया जांच

सिरका : हेसला जामुनटाड़ स्थित बॉयोजेनेटिक फैक्ट्री प्रांगण में मंगलवार को नगर परिषद के कार्यपालक पदाधिकारी संजय कुमार और रामगढ़ सीईओ सुधीर कुमार फैक्ट्री से होने वाले प्रदूषण, जमीन में मेडिकल वेस्ट सामान दबाने, कारखाना के रख रखाव आदि विषयों को लेकर ग्रामीणों की शिकायत पर जांच कर निरीक्षण किया। इस दौरान नगर परिषद ईओ और रामगढ़ सीओ ने फैक्ट्री बॉयोजेनेटिक फैक्ट्री से संबंधित सीटीओ, मेडिकल वेस्टेज चीजों को नष्ट करने और यहां लाये जाने संबंधी जानकारी कागजात फैक्ट्री प्रबंधन से मांगा। इसके बाद बॉयोजेनेटिक फैक्ट्री में किस प्रकार मशीन के द्वारा मेडिकल वेस्टेज चीजों को नष्ट किया जाता हैं। उसका भी निरीक्षण किया। इस संबंध में नगर परिषद कार्यपालक पदाधिकारी ने बताया कि ग्रामीणों की शिकायत पर बॉयोजेनेटिक फैक्ट्री का प्रदूषण बोर्ड संबंधी कागजात, नियम एवं मेडिकल वेस्ट करने की प्रक्रिया के बारे में जानकारी लिया गया। साथ ही इससे संबंधित सरकारी नियम और मापदंडों के बारे में पूछताछ की, नप ईओ ने कहा कि प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड को इस संबंध में सूचीबद्ध अवगत करा आगे की कार्रवाई की जाएगी। इसके अलावे मेडिकल वेस्ट दवाओं को नष्ट करने से जमीन की गुणवत्ता को बनाए रखने में भी सरकारी और जनहित मापदंडों को लागू करने की बात कहीं गई हैं। अंत में नप ईओ और सीओ ने बॉयोजेनेटिक संबंधी कागजातों की कॉपी लेकर चले गए। वही बॉयोजेनेटिक फैक्ट्री के इंचार्ज दिनेश मुंडा ने बताया कि नप ईओ और सीईओ द्वारा फैक्ट्री जांच की गई हैं। इसमें कुछ कमी बताई गई हैं। जिसे आगे फैक्ट्री प्रबंधन के अनुसार ठीक कर नियमानुसार कार्य किया जाएगा। मौके पर नप ईओ संजय कुमार, रामगढ़ सीओ सुधीर कुमार, सिटी मैनेजर प्रकाश साहू, पार्षद 12 गोपाल मुंडा, बॉयोजेनेटिक फैक्ट्री के चंदन कुमार, दिनेश मुंडा, ग्रामीण छोटन मुंडा, लक्ष्मण बेदिया, सुरेश मुंडा, बबलू बेदिया समेत कई लोग उपस्थित थे।