नाग पूजा के अवसर पर कन्हवारा वासियों को हुआ जोड़ा सर्प का दर्शन

गोड्डा: जिला मुख्यालय से सटे कन्हवारा गांव में हर वर्ष की भांति इस वर्ष भी आद्रा नक्षत्र प्रारंभ होने के साथ ही 22 जून से नाग पूजा प्रारंभ हो गया है। एक पखवाड़ा तक चलने वाले नाग पूजा का समापन 7 जुलाई को होगा। इस बीच नाग पूजा के दौरान ही शुक्रवार को शाम में गांव के समीप झाड़ियों में आपस में खेल करते एक जोड़ा सर्प का दर्शन हुआ। जोड़ा सर्प का खेल करीब एक घंटा से अधिक समय तक जारी रहा। ग्रामीणों का कहना है कि दोनों सर्प कोबरा प्रजाति का था।
ग्रामीण इसे साक्षात नाग बाबा का दर्शन मान रहे हैं। आपस में अठखेलियां करते जोड़ा सर्प का वीडियो तेजी से सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है।
इस गांव में स्थित नाग बाबा थान की महिमा काफी दूर तक फैली हुई है। नाग पूजा के अवसर पर गांव का माहौल काफी भक्तिमय एवं उत्सवी हो जाता है। आद्रा नक्षत्र प्रारंभ होने के साथ ही कन्हवारा गांव के स्वर्गीय चक्रधर सिंह के घर में स्थापित नाग बाबा की वार्षिक पूजा शुरू हो जाती है और आद्रा नक्षत्र के अंतिम दिन पूजा का समापन होता है। पूजा समापन के मौके पर काफी दूरदराज से हजारों लोगों की भीड़ जुटती है। गांव का माहौल मेलानुमा हो जाता है। हालांकि पिछले साल कोरोना के कारण पूजा समापन के अवसर पर लोगों की भीड़ जुटने नहीं की गई थी। मान्यता है कि सर्पदंश से पीड़ित लोगों को नाग बाबा थान लाने पर एवं यहां का नीर पिलाने पर ठीक हो जाते हैं।