विश्वेश्वरैया जयंती के मौके पर “अभियंता दिवस” तथा “मॉडल प्रदर्शनी” कार्यक्रम का किया गया आयोजन

पाकुड़ : कोला जोड़ा स्थिति पाकुड़ पॉलिटेक्निक परिसर में भारत रत्न मोक्षगुंडम विश्वेश्वरय्या के जयंती एवं अभियंता दिवस के अवसर पर अभियांत्रिकी एवं विज्ञान पर आधारित दो दिवसीय मॉडल प्रदर्शनी को लेकर कार्यक्रम का आयोजन किया गया। कार्यक्रम का उद्घाटन मुख्य अतिथि जिला शिक्षा पदाधिकारी रजनी देवी के द्वारा दीप प्रज्वलित कर किया गया | उद्घाटन के बाद जिला शिक्षा पदाधिकारी के द्वारा लगभग 40 छात्रों के द्वारा प्रदर्शित मॉडल का अवलोकन किया गया और सभी मॉडल का अवलोकन करने के बाद उन्होंने सभी छात्रों को प्रोत्साहित किया उन्होंने कहा कि यदि मन में लगन हो तो हमें सफलता पाने से कोई रोक नहीं सकता । उन्होंने कहा कि आप पूरे लगन के साथ इस मॉडल को धरातल पर उतारने का प्रयास करें। मौके पर मौजूद संस्थान के प्राचार्य डॉ० सरोज कुमार पाढ़ी ने छात्रों को संबोधित करते हुए कहा कि डॉ० एम विश्वेश्रैया एक महान इंजीनियर थे । वे सभी अभियंताओं व इंजीनियरिंग के छात्रों के लिए हमेशा आदर्श रहेंगे। हम सभी को उनके बताये मार्ग और आदर्श पर चलना चाहिए। उन्होंने यह भी कहा कि भारतरत्न डॉ. एम विश्वेश्रैया का पूरा जीवन सभी के लिए प्रेरणादायक है। उन्होंने अपने कौशल और प्रतिभा से आधुनिक भारत के निर्माण में स्वर्णिम योगदान दिया है। अंग्रेजों ने भी उनकी प्रतिभा का लोहा मान कर उन्हें सर की उपाधी दी थी।संस्थान के निदेशक अभिजित कुमार तथा शशि निकाय की सदस्य रेणुका यशश्वी ने ऑनलाइन जुड़ कर भारत रत्न श्री मोक्षगुंडम विश्वेश्वरय्या जी की जयंती पर उन्हें नमन किया तथा सभी शिक्षकों, कर्मचारियों और छात्रों को संबोधित करते हुए उन्हें एक सफल इंजीनियर बनने के लिए उनके नक्शेकदम पर चलने और समाज के कल्याण के लिए अपने तकनीकी ज्ञान का उपयोग करने का दृढ़ संकल्प लेने के लिए कहा।
इस मौके पर प्रशासनिक पदाधिकारी निखिल चंद्रा, परीक्षा नियंत्रक श्री अमित रंजन एवं सभी शिक्षकगण मौजूद थे |