“टीबी उन्मूलन में पंचायती राज प्रतिनिधियों की भूमिका को लेकर कर एकदिवसीय कार्यशाला”

गुमला: रीच संस्था के द्वारा टीबी उन्मूलन में पंचायती राज प्रतिनिधियों की भूमिका को लेकर कर एकदिवसीय कार्यशाला का आयोजन प्रखंड विकास पदाधिकारी कार्यालय के सभागार में आयोजित किया गया। इसमें जिले के जिला यक्ष्मा पदाधिकारी एवं जिला टीबी कार्यालय के सभी कर्मियों ने शिरकत की। इसमें रायडीह के प्रमुख इस्माइल कुजूर ने रायडीह प्रखंड को टीबी मुक्त प्रखंड करने हेतु सभी मुखियाओं की तरफ से शपथ लिया की वो इस महत्वपूर्ण कार्य में अपना पूरा सहयोग करेंगे। जिला यक्ष्मा पदाधिकारी ने सभी पंचायती राज सदस्यों को कहा कि टीबी के उन्मूलन में सबसे बड़ी अपेक्षा आप सभी से है कि आप अपने पंचायत से टीबी मुक्त अभियान की शरुआत कर सकते हैं तथा अभी जो यक्ष्मा से संबंधित सक्रिय खोजी अभियान में भी मुखियाओं की जिम्मेवारी बताई। रीच संस्था की तरफ से राज्य प्रमुख प्रणव झा ने टीबी उन्मूलन के लिए शिक्षा, स्वास्थ्य एवं समाज कल्याण विभाग को साथ आ कर काम करने की बात की। रीच के M&E विकास चौधरी एवं जिला रणनीतिकार राहुल शेखर ने टीबी के साथ होने वाले स्टिग्मा यानी लोक निंदा एवं भेदभाव के बारे में विस्तार पूर्वक बताया। प्रखंड के STS सुधांशु भूषण मिश्रा के द्वारा टीबी के लिए सरकार द्वारा दी जा रही सुविधाओं के बारे में विस्तार पूर्वक बताया । बैठक के अंत मे पुनः भारत को टीबी मुक्त बनाने के लक्ष्य के लिए टीबी से मुक्ति तथा टीबी से संबंधित तिरस्कार से मुक्ति के लिए दृढ़संकल्प लिया गया। समापन जिला रणनीतिकार राहुल शेखर ने टीबी हारेगा, देश जीतेगा के नारे के साथ किया।